Let’s travel together.

अमोला क्षेत्र से दो नाबालिग आदिवासी बहनें गायब ,परिजनों ने कहा बच्चियों का अपहरण हुआ

0 273

- Advertisement -

-पूर्व में इन्ही में से एक बच्ची के साथ 19 दिन तक हुआ था कुकर्म

-पुलिस ने नहीं दिखाई आरोपी को गिरफ्तार करने में फुर्ती

शिवपुरी । पुलिस थाना अमोला से आज दो नाबालिग आदिवासी बालिकाओं के अपहरण का हो गया है लेकिन पुलिस ने अभी तक मामला कायम नहीं किया है . बताया जा रहा है कि दोनों बालिकाएं सुबह शौच के लिए घर से निकलीं थीं तभी पवन ओझा के साथ कोई अज्ञात व्यक्ति उन्हें अपर्हत करके ले गए . सभी जगह खोजबीन के बाद भी जब कहीं पता नहीं चला तो परिजन अमोला थाने पहुंचे लेकिन वहां मौजूद पुलिस वालों ने उल्टा उन्हें ही खरी –खोटी सुना डालीं और फिलहाल रिपोर्ट लिखने से मना कर दिया जिससे सहरिया आदवासियों में आक्रोश है . परिजनों का कहना है कि पुलिस ने पूर्व में बच्ची की बात को गम्भीरता से नहीं लिया जिस कारण उसने दोबारा घटना घटित कर डाली बता दें कि पवन ओझा नामक एक शादीशुदा अधेड़ पूर्व में इनमे से एक बालिका को अप्रहत करके ले गया था जिसके बाद पुलिस ने उसे तो बरामद कर लिया था लेकिन आरोपी को खुला छोड़ दिया था उनकी शंका है की ये वारदात को उसी ने व उसके साथियों ने अंजाम दिया है और इस बार एक नहीं दो चचेरी बहनों को ले गया .
जानकारी अनुसार विगत माह अमोला थाना अंतर्गत आने वाले ग्राम से आरोपी पवन ओझा एक नाबालिग बालिका का अपहरण करके ले गया था . जिसकी रिपोर्ट अमोला थाना में दर्ज़ कराई जिसके 19 दिन बाद अमोला पुलिस ने बालिका को सलैया क्षेत्र से बरामद होना बताया था बालिका के बयानों के आधार पर आरोपी पवन ओझा के विरुद्ध पुलिस ने पाक्सो एक्ट व् बलात्कार की धाराओं में प्रकरण दर्ज तो कर लिया था लेकिन उसे सलाखों तक पहुँचाने में पुलिस नाकामयाब रही या रूचि नहीं ली कुछ भी कह सकते हैं . बालिका ने बरामदगी के बाद पुलिस को बताया था की उस पवन ओझा ने 19 दिन तक उसे इंदोर में एक कमरे में रखकर उसके साथ दुष्कृत्य किया था . बालिका के बयानों के आधार पर पुलिस ने मामले में धाराओं का इजाफा तो किया लेकिन उसे गिरफ्तार करने में कोई रुची नहीं दिखाई वो खुलेआम गाँव में घूमता रहा . परिजनों ने पुलिस से उसे गिरफ्तार करने की बात कही तो पुलिस ने उलटा परिजनों से दुर्व्यवहार कर डाला . बालिका के परिजनों ने बताया की पुलिस की ढील का फायदा उठाकर आज उसी पवन ओझा ने पुनः घटना की है
परिजनों ने बताया की दोनों नाबालिग चचेरी बहन नित्य की भाँति आज सुबह शौच करने गई थीं तभी वे रहस्यमय ढंग से गायब हो गईं . उन्हें सभी जगह ढूंडा लेकिन उनका शाम तक कोई सुराग नहीं लगा जिसके बाद पुलिस थाना अमोला पहुंचे तो पुलिस ने परिजनों को खरी –खोटी सुनाकर चलता कर दिया व दोनों बच्चियों के अपहरन का मामला शाम 7 बजे तक कायम नहीं किया . पुलिस के इस दुर्व्यवहार की सूचना परिजनों ने सहरिया क्रांति संयोजक संजय बेचैन को दी है .

आदिवासियों के मामलों को गंभीरता से ले पुलिस

सहरिया क्रांति संयोजक संजय बेचैन ने कहा है कि एक साथ दो नाबालिग आदिवासी बालिकाओं के रहस्मयी अंदाज में गायब होने का मामला बेहद गम्भीर है , पूर्व में भी इनमें से एक बालिका के साथ पवन ओझा नामक व्यक्ति अपहरण के बाद 19 दिन तक कुकर्म करता रहा पुलिस ने उसे गिरफ्तार करने में तत्परता दिखाई होती तो आज ये घटना घटित न होती . पुलिस को दो नाबालिग आदिवासी बालिकाओं को अप्रहत करने वाले तत्वों का पता लगाकर सख्त कार्यवाही करना चाहिए। देर रात पुलिस ने अपहरण का मामला दर्ज कर लिया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

युवा क्रांति रोटी संस्थान द्वारा जरूरतमंद लोगों को भोजन कराया गया     |     राहुल गांधी की सदस्यता छीनना दिखाता है भाजपा का डर -दुर्गेश वर्मा     |     अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस का आयोजन     |     पंच कुंडात्मक श्री राम महायज्ञ एवं श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन     |     लाडली बहना योजना के फार्म भरे जाने हेतु आयोजित कैम्प का संभागायुक्त ने किया शुभारंभ     |     TODAY:: राशिफल रविवार 26 मार्च 2023     |     जिला शिक्षा अधिकारी ने किया कक्षा 5 वी एवं 8 वी की परीक्षा का निरीक्षण     |     विश्वकर्मा समाज की महिलाओं द्वारा होगा वृहद आयोजन     |     तीसरा टाईगर भी छोड़ा, अब तीनों रहेंगे खुले जंगल में     |     एबीवीपी का आरोप: जनभागीदारी समिति अध्यक्ष कर रहे हैं कॉलेज का राजनीतिकरण     |    

Don`t copy text!
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9425036811