Let’s travel together.

बॉयफ्रेंड की लाश, रिवाल्वर और रूम नंबर 306… कातिल गर्लफ्रेंड की कहानी

0 13

पश्चिम बंगाल के आसनसोल में एक युवक अपनी प्रेमिका को होटल पहुंचा था. दोनों खुशी-खुशी वहां पहुंचे थे, लेकिन थोड़ी ही देर में होटल के कमरे से युवक का शव बरामद किया गया जिसकी वजह से पूरी बिल्डिंग में हड़कंप मच गया. हैरान करने वाला सवाल ये है कि इतने समय में ऐसा क्या हुआ कि प्रेमी को अपनी जान से हाथ धोना पड़ गया. होटल में युवक के सिर के पीछे गोली लगी हुई थी. पुलिस ने आरोपी प्रेमिका को गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तारी के बाद युवती ने जमानत याचिका दायर की थी, जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया.

बताया जा रहा है कि आरोपी सबाना परवीन उर्फ ​​जैनव खातून बीए प्रथम वर्ष की छात्रा है. वह एकॉन बागान की रहने वाली है. वहीं मृतक रोहन प्रसाद राम 21 साल का था. रोहन 20 फरवरी यानी मंगलवार को अपनी प्रेमिका के साथ होटल के कमरा नंबर 306 में पहुंचा था. अगले दिन होटल का दरवाजा जब नहीं खुला तो उसे तोड़कर शव को बाहर निकाला गया. यह होटल आसनसोल के जीटी रोड पर कुमारपुर में मौजूद है.

होटल से क्या-क्या हुआ बरामद?

आरोपी प्रेमिका ने पुलिस को गुमराह करते हुए यह मानने से इंकार कर दिया कि रोहन की मौत वाली रात वह होटल में उसके साथ मौजूद थी. उसके बयान की जांच के लिए जब पुलिस ने होटल के सीसीटीवी कैमरे की फुटेज को खंगाला तो बात कुछ और सामने आई. पुलिस को अब तक की जांच में होटल से रिवाल्वर और एक बैग मिला है. बैग में रोहन का फोन भी मिला है, जिसे पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया है. रिवॉल्वर और गोलियों की फोरेंसिक जांच की गई है.

पुलिस ने रोहन के शव को पोस्टमार्टम के लिए असनसोल के जिला अस्पताल में भेज दिया था. मोर्चरी से पुलिस को रोहन के सिर से निकली गोलियां जब्त कर ली हैं. फिलहाल, आरोपी सबाना को जमानत नहीं मिली है. न्यायमूर्ति ने सबाना की जमानत याचिका को खारिज करते हुए उसे 5 दिन के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

राजेश बादल की नई किताब::“यह अंतिम था, जिसे पोर्टल प्रकाशित करने का साहस नहीं दिखा सका और मैंने यह कॉलम बंद कर दिया।“     |     क्षेत्र मे दहशत फैलाने वाले कुख्यात शराब तस्कर व आदतन आरोपी  NSA में गिरफ्तार कर केन्द्रीय जेल भोपाल भेजा गया     |     कुंडलपुर में आचार्य पदारोहण न भूतों न भविष्यति,एक नहीं दो दो मोहन बने साक्षी     |     सात दिवसीय श्रीमद्भागवत कथा का समापन     |     प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में दिल्ली की तीन सदस्य टीम का निरीक्षण     |     सप्त दिवसीय हनुमत शिव पंचायत, प्राण प्रतिष्ठा एवं राम कथा प्रवचन का आयोजन,कलश यात्रा निकली     |     नवरात्र के आखिरी दिन मंदिरों में भक्तों की रही भीड़     |     सवारी ऑटो को एसडीएम के जीप चालक ने मारी टक्कर, एक की मौत,चैत्र दुर्गा माता की अष्टमी पर पूजन करने रायसेन आया था आदिवासी परिवार     |     श्रीरामनवमी पर शहर में निकली जवारो की शोभा यात्रा, मिश्रा तालाब पर किया गया विसर्जन     |     दैवियां हमारे जीवन में नौ दिन के लिए नहीं बल्कि सदा के लिए परिवर्तन चाहती हैं- ब्रह्माकुमारी रुक्मिणी दीदी     |    

Don`t copy text!
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9425036811