Let’s travel together.

MPEB के एसई संपूर्णानंद शुक्ला को रिश्वत मामले ने पकड़ा जोर,विधुत कर्मी हुए विरोध में लामबंद

0 1,642

विदिशा से राजीव शर्मा की रिपोर्ट

विदिशा के विधुत मंडल एस ई संपूर्णानंद शुक्ला को रिश्वत कांड में गलत फसाने कोलेकर विधुत कर्मियो में आक्रोश व्याप्त है।विधुत कर्मियो ने मीडिया पर सबाल खड़े करते हुए कहा है कि मीडिया हमारे संविधान का चौथा स्तंभ कहा जाता है़ क्यूँ कि भारत को आजाद करवाने में भारत के ईमानदार पत्रकारों ने कलम् को हथियार बनाया और लोगो के अंदर आजादी का जज्बा जगाया। दैनिकसमाचार पत्र चौथे स्तंभ का भी महत्वपूर्ण स्तंभ है़ एवं म प्र का जिम्मेदार समाचार पत्र है आपके समाचार पत्र में जो भी खबर प्रकाशित होती है वह आम आदमी के भरोसे के नींव पर आधारित होती है। उस भरोसे को बनाए रखना एक बड़ी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी होती है। और यह भी सुनिश्चित किया जाएं कि समाचार पत्रों का इस्तेमाल माफिया लोग अपने निजी एजेंडा को सफल बनाने में ना कर पाएं। दिनांक 16.03.22 को एक ईमानदार अधिकारी को झूठा आपराध दायर कर फंसाया गया और जिम्मेदार समाचार पत्र के ओहदे का इस्तेमाल कर उस व्यक्ति को बदनाम करने में कोई कसर नहीं छोड़ी जा रही है और यह कृत्य कहीं ना कहीं निर्भीक ,ईमानदार पत्रकारों द्वारा अर्जित की गई साख को दांव में लगा रहा है। हम देखते हैं कि जब कोई गरीब, शोषित,और पिछड़ा व्यक्ति जब न्याय और अधिकार पाने के लिये जनसुनवाई में जाता हैं तब समाचार पत्र प्रमुखता से मुद्दे उठाकर उस गरीब को न्याय दिलवाने में अहम भूमिका निभाता है़। आज के समय जब विश्व में सोशियल मीडिया का बोलबाला है़ और मैन स्ट्रीम मीडिया को चुनौती दे रहा है़ तब इस दौर में भी प्रिंटेड मीडिया लोगो के विश्वास को जीतने में प्रथम स्थान पर कायम है़। और सत्य को सरकार तक पहुंचाने में सक्षम है़। जब भी मीडिया कि आवाज को दबाने का प्रयास हुआ है़ तो भी मीडिया पुनः खड़ा हुआ और अपने स्वरूप को पाया है़।

जैसा कि आपको ज्ञात है़ कि मध्य प्रदेश विधुत मंडल की उत्तरवर्ती कंपनीयों में पदस्थ नियमित संविदा और बाह्य स्त्रोत कर्मचारी 24 घंटे सभी मौसम और विपरीत परिस्थित में जनता की सेवा हेतु विद्युत प्रदाय बनाए रखने के लिये कार्य करते हैं। इस कार्य के दौरान हमारे ऊपर हमेशा जान का खतरा बना रहता है़। एवं कई कर्मचारी अपनी जान भी खो चुके हैं।

हम सभी कर्मचारी इस कार्य को करने में अपना सौभाग्य समझते हैं और स्वयं को गौरवशाली महसूस करते हैं। दिनांक 16-03-22 को विदिशा में एक ऐसे महाप्रबंधक जो की अपनी ईमानदारी के लिये जाते हैं और कहा जाता है की अभी तक कोई ऐसा नोट नहीं बना जो श्री संपूर्णानंद शुक्ला को खरीद सके और उनको अपने कर्तव्य करने से रोक सके। जब माफियाओं ने देख की खरीद नहीं सकते तो उन्होंने श्री शुक्ला को रास्ते से हटाने की साजिश रच डाली। एक भू माफिया बिजली माफिया और तथाकथिक बिधुत ठेकेदार जो समय समय पर रूप बदल लेता है़। और यह नाम भोपाल संभाग के जिलों में पदस्थ प्रथम श्रेणी प्रशासनिक अधिकारियों के बीच चर्चित है़। उक्त माफिया द्वारा जिस कार्य का हवाला देकर लोकायुक्त में फंसाया गया है़ उस प्रकरण में माफिया के खिलाफ विधुत चोरी का प्रकरण दर्ज हुआ था। उक्त माफिया 33 kv लाइन जो की पूर्व में चोरी हों गई थी के बचे हुये अवशेषों को जुगाड़ कर 25kva विधुत ट्रांसफॉर्मर रखकर 11 kv फीडर से जोड़कर अवैध रूप से अम्बा नगर के पास वैयर हाउस का निर्माण कार्य में बिजली का उपयोग करते पकड़ा गया था। एवं उक्त प्रकरण को ना बनाने के लिये श्री शुक्ला पर सभी प्रशानिक अधिकारियों से फोन लगवाया गया और जब श्री शुक्ला अपने फैसले पर अडिग रहे तो उक्त माफिया ने लोक अदालत में पैसा जमा कर दिया परंतु जब उसको पता चला की उसके द्वारा जो विद्युत अधिनियम के नियमों का पालन किये बगेर जो कार्य किया था उस पर भी कार्यवाही की जा रही है़ और 25kva ट्रान्सफार्मरको जब्त कर थाने में प्रकरण दर्ज करवाने की तैयारी की जा रही है़। तब उक्त माफिया श्री शुक्ला को रास्ते से हटाने में लग गया और उसने आनन फानन में मनगढ़ंत कहानी पर आधारित साजिश रची जो 2 दिन तक सफल नहीं हों पाई और तीसरे दिन उनको ट्रेप करवाया गया।
घटना को अंजाम देते वक्त लोकायुक्त टीम को भी आभास हों गया था की वो एक ईमानदार व्यक्ति के ख़िलाफ़ कार्यवाही कर रहे हैं और असफल होते देख उन्होंने भी सभी नियमों को ताक पर रख दिया। जैसे ही श्री शुक्ला क्षेत्र का दौरा कर अपने अस्थायी निवास पेट पूजा होटल पहुते। तो बहा पर पहले ही गुंडों की तरह घात लगाए माफिया के गुंडों ने सड़क पर घेर लिया और श्री शुक्ला की जेब में जबरजस्ती पैसे रख दिये और यह तमाशा लोकायुक्त टीम के सदस्यों द्वारा अपने आंखों से देखा गया। चूंकि लोकायुक्त टीम सिविल ड्रेस में थी तो श्री शुक्ला टीम को नहीं पहचान सके इसलिये उन्होंने ड्राइवर को जेब से पैसे निकालकर फेंकने के निर्देश दिये ,जैसे ही ड्राइवर करन ने पैसे निकले टीम ने गिरफ्तार कर लिया और आगे की कार्यवाही होटेल के कमरे में की। उक्त माफिया द्वारा आदरणीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बिजली विभाग की सौभाग्य योजना में बहुत बड़े स्तर पर गड़बड़ी की। आज से लगभग 10 वर्ष पूर्व एक साधारण सा व्यक्ति आज विदिशा ,भोपाल व रायसेन जिलों में भू एवं बिजली माफिया केसे बन गया ?
विश्वस्त सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार उक्त माफिया के संबंध तत्कालीन सी.एम. डी. श्री संजय शुक्ला से जायज /नाजायज तरीके से संपर्क में आया उसके बाद से ही विदिशा , रायसेन व्रतों में एकछत्र राज किया। किसी अधिकारी में इसके ख़िलाफ़ जाने की हिम्मत नहीं हुई कुछ लोगो ने प्रयास भी किये सही कार्य करने के तो उक्त माफिया के प्रभाव में दबा दिया गया। यही कारण है़ कि इसके द्वारा विकसित की गईं अवैध कॉलोनियों में कंपनी के समान के साथ साथ नियम विरुध पी सी सी पोल का उपयोग कर लाइन चालू की गई जो कि वर्षों से कॉलोनियाँ में लगाया जाना प्रतिबंधित है़। श्री संजय शुक्ला महोदय के दबाव से मुक्त होकर क्या शासन ,प्रशासन, व कंपनी प्रबंधन इसके किये गये कार्यों के साथ साथ इसकी अल्प समय में विदिशा ,रायसेन व भोपाल जिलों में एकत्रित की गई अकूत संपत्ति की जांच करेगा ?
सैभाग्य योजना के तहत जो ट्रांसफॉर्मर बिधुत केबिल और खम्भे ग्रामीण क्षेत्र में लगाने थे उसमें बहुत से ट्रांसफॉर्मर केबल व पोल उक्त माफिया ने खुद के द्वारा बासौदा शहर के चारों तरफ बिकसित की गई अवैध कॉलोनियां में लगा दिये और बिना पास किये ही विधुतिकृत कर दी (आज भी साक्ष्य के तौर पर मीडिया चाहे तो देख सकता है़) और ग्रामीण क्षेत्रों की लाईनें अधूरी छोड़ दी और यह कह दिया गया की तार चोरी हो गया है़। और यहा पदस्थ अधिकारी कर्मचारी सिर्फ सील और साइन करने के लिये मोहरा मात्र रह गये। श्री शुक्ला के समय उक्त माफिया को उसके द्वारा किये गये काले कारनामे खुलने का आभास हो गया था इसलिये उसने इस कार्यवाही को करने में अपनी पूरी प्रतिष्ठा दांव पर लगा दी और वह लगभग असफल हो गया था। परंतु लोकायुक्त की महरबानी से वह फिलहाल सफल हो गया है़। परंतु हमारे सभी कर्मचारियों ने भी यह ठान लिया है़ की उक्त माफिया को सजा दिलवा कर रहेंगे और श्री शुक्ला का सम्मान भी वापस दिलवाएंगे । चूंकि विदिशा मध्य प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री का गृह जिला है और हम सब उनके गृह जिले में फल फूल रहे माफियाओं को जनता और कनून के सामने रखेंगे उक्त कार्य को करने में एलेक्ट्रानिक मीडिया और प्रिंट मीडिया से संबंधित पत्रकारों तथा समाचार पत्रों का सहयोग आवश्यक है़ और हमारा निवेदन है़ की सही तथ्यों को ही सामने रखें हम भी सहयोग और सबूत आवश्यकता पढ़ने पर देते रहेंगे । साथ ही हमारे संगठनों ने cbi जांच की भी मांग की है़ अतः हमारी आवाज बनाने का कष्ट करें जिससे ईमानदारी जिंदा बनी रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

आयसर ट्रक ने मोटरसाइकिल सवार की टक्कर मारी,एक की मौत     |     भोपाल विदिशा हाईवे 18 पर 3 दिन से लगातार बार-बार लग रहा जाम,यात्रियों को हो रही परेशानी     |     ट्रेन की चपेट में आने से ईंट भट्टा श्रमिक की मौत     |     जम्मू-कश्मीर में आतंकियों पर एक्शन की तैयारी? अमित शाह कल करेंगे सुरक्षा स्थिति पर अहम बैठक     |     बिहार: बेखौफ बदमाशों के हौसले बुलंद, खगड़िया में माकपा नेता की गोली मारकर हत्या     |     बुरहानपुर: हाल-ए-अस्पताल! संक्रमण के साए में मरीज, यहां टीबी रोगी भी सामान्य वार्ड में भर्ती     |     उपमुख्यमंत्री राजेंद्र शुक्ल ने किया 32वें सुरताल महोत्सव के प्रतिभागियों को सम्मानित      |     साइनिंग अमाउंट लेकर भी शाहरुख खान ने फिल्म ठुकराई, अनिल कपूर का करियर बन गया!     |     ऋषभ पंत ने लगाया स्पेशल ‘शतक’ जितना कमाया सब कर देंगे दान     |     ग्राम आमखेड़ा में दिखा बाघ,लोगों को देखकर शेर जंगल मे चला गया     |    

Don`t copy text!
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9425036811