Let’s travel together.

दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों के साथ नगर परिषद सिलवानी की महिला कर्मचारियों द्वारा दुर्व्यवहार को लेकर ज्ञापन सौंपा

0 691

सिलवानी रायसेन से देवेश पाण्डेय

सिलवानी। रविवार को दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी संघ ने निकाय की दो महिला कर्मचारियों द्वारा दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों से अनावश्यक टीका टिप्पणी तथा दुव्र्यवहार से तंग आकर विधायक, कलेक्टर के नाम सीएमओ राजेन्द्र शर्मा को ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन में उल्लेख किया गया कि कुछ दिनों से निकाय में कार्यरत श्रीमति निहारिका नगाइच, कु. नूतन खरे सहायक राजस्व निरीक्षक नगर परिषद सिलवानी द्वारा कार्यालय के दैनिक भोगी कर्मचारियों से अनावश्यक टीका टिप्पणी तथा दुव्र्यवहार किया जा रहा है। उक्त दोनों महिला कर्मचारी दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों को निकाय का कर्मचारी ही नहीं मानती जबकि निकाय के समस्त कार्य दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी दिनरात मेहनत करके समय सीमा में कार्य पूर्ण करते है। दोनों ही महिला कर्मचारियों के द्वारा बार-बार निकाय के दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों के कार्य से हटाने के लिए बार-बार षिकायत की जाती है एवं बोला जाता है कि दैनिक वेतन भोगी गैर सरकारी कर्मचारी है इन से कार्यालय के कार्य न कराए जाए जबकि उनके द्वारा संपादित राजस्व षाखा के समस्त शासकीय पत्रों की जानकारी कार्य अनुभव न होने के कारण दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों के द्वारा ही तैयार की जाती है। दोनों ही महिला कर्मचारियों की अभी परिवीक्षा अवधि समाप्त नहीं की गई है, दोनों ही महिला कर्मचारियों की कार्य प्रणाली से केवल दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी ही नहीं आम जनता एवं स्थानीय जनप्रतिनिधि भी परेशान है। आमजन के कार्यों को बार-बार रोका जाता है व परेशान किया जाता है। इनकी कार्य प्रणाली ऐसी है कि लोगों के कार्यों करे जानबूझकर रोका जाता है जिससे विवाद की स्थिति निर्मित होती है। उक्त दोनों महिला कर्मचारियों का विगत चार-पांच महीनों से विवाद चल रहा है जिससे निकाय की छवि धूमिल हो रही है जिसके लिए कर्मचारियों द्वारा निकाय हित में बैठक कर कार्यालय के माहौल की ठीक करने के लिए संबंधित महिला कर्मचारियों के साथ बात की गई परंतु अड़ियल रवैए के कारण विवाद की स्थिति बनी हुई। कर्मचारियों ने ज्ञापन सौंपकर दोनों महिला कर्मचारियों का स्थानांतरण अन्य किसी निकाय में किया जाए साथ ही इनकी परिवीक्षा अवधि इनके आचरण एवं कार्य की आकुशलता को देखते हुए परिवीक्षा अवधि दो साल और बढ़ाई जाए। कर्मचारियों ने कहा कि यदि मांगें 7 दिवस के अंदर पूरी नहीं होती है तो दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी काम बंद हड़ताल करेंगे। इस दौरान देवेन्द्र रघुवंशी, निखिलेश राय, हेमन्त यादव, सीताराम साहू, धर्मेंद्र गुप्ता, कस्तूर प्रजापति आदि मौजूद रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

मध्यप्रदेश वैश्य महासम्मेलन की महिला इकाई की संभाग प्रभारी बनी डॉ रश्मि गुप्ता     |     उप-मुख्यमंत्री राजेंद्र शुक्ल ने “अर्बन मोबिलिटी एंड इमर्जिंग टेक्नोलॉजी” सेमिनार का शुभारंभ किया     |     संयुक्त किसान मोर्चा मप्र ने सांसदों को ज्ञापन सौंपा     |     मनरेगा में भृष्टाचार के आरोपों की जांच शुरू     |     किसी अप्रिय घटना के पहले पुलिस ने विक्षिप्त महिला को भेजा भिक्षुक पुनर्वास केंद्र     |     अनियंत्रित बाइक बिजली पोल से टकराई, मोबाइल टावर के पास खंती में गिरी, बाइक सवार युवक की मौत     |     TODAY :: राशिफल शुक्रवार 19 जुलाई 2024     |     बिजली करंट लगने से किसान की मौत, एक घायल लाइनमैन और उसके हेल्पर ने 25 हजार लेकर जोड़े थे बिजली के तार     |     विश्व धरोहर में शामिल साँची में रेलवे स्टेशन पर नही हे ट्रेनों का स्टापेज,पर्यटक होते हे परेशान     |     सांची विश्वविद्यालय में 500 पौधे लगाए गए, पूर्व मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने किया पौधारोपण     |    

Don`t copy text!
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9425036811