Let’s travel together.

जिले में सख्ती से चलाए रोको-टोको अभियान, मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का कराएं पालन जिला आपदा प्रबंधन समूह की बैठक सम्पन्न

0 62

कोरोना की रोकथाम के लिए पूर्व और पूर्ण योजना के साथ करें काम- प्रभारी मंत्री
किसी भी स्थिति से निपटने के लिए रहे पूरी तैयारी- प्रभारी मंत्री

रायसेन। सहकारिता एवं लोक सेवा प्रबंधन मंत्री तथा जिले के प्रभारी मंत्री डॉ अरविन्द सिंह भदौरिया तथा स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी द्वारा कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित जिला आपदा प्रबंधन समूह की बैठक में कोविड-19 की तीसरी लहर से निपटने के लिए जिले में की गई तैयारियों, कोविड वैक्सीनेशन की समीक्षा गई। बैठक में प्रभारी मंत्री ने कहा कि इस आपदा से लड़ाई में सभी को एकजुट होकर कार्य करना होगा। कोरोना पर नियंत्रण के लिए पूर्व योजना एवं पूर्ण योजना तैयार करना जरूरी है।
उन्होंने कहा कि कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम के लिए जारी किए गए प्रतिबंधात्मक आदेशों, कोरोना गाईडलाइन का सख्ती से पालन कराया जाए। शासन की गाइडलाइन अनुसार जिले में मेलों का आयोजन नहीं किया जाए। इसके साथ ही संक्रांति पर्व पर भी मेला आयोजन प्रतिबंधित रहेगा, पूजा-अर्चना होगी। प्रभारी मंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण के विरूद्ध लड़ाई में सभी का सहयोग जरूरी है। लोगों को समझाएं कि कोविड संक्रमण की रोकथाम के लिए वैक्सीन लगवाने के साथ-साथ सावधानी बरतना जरूरी है। कोरोना संक्रमण की रोकथाम हेतु लोगों को जागरूक करें, मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन कराएं। रोको-टोको अभियान सख्ती के साथ चलाया जाए तथा सार्वजनिक स्थानों पर मास्क नहीं लगाने वालों के विरूद्ध जुर्माना किया जाए।
प्रभारी मंत्री डॉ भदौरिया ने निर्देश दिए कि अस्पताल परिसर में भी सभी लोग अनिवार्य रूप से मास्क लगाएं। मोबाईल यूनिट टेस्टिंग टीम भी तैयार करें। विकासखण्डों में स्थापित कोविड केयर सेंटर्स की जानकारी लेते हुए आवश्यक मूलभूत सुविधाएं जैसे दवाइयां, पेयजल, चाय नाश्ता, खाना आदि की उचित व्यवस्था सहित स्वास्थ्य संबंधी अन्य सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। सभी विकासखण्डों में पर्याप्त मात्रा में दवाईयों की किट पहुंचाते हुए विकेन्द्रित करते हुए गॉव-कस्बों के स्वास्थ्य केन्द्रों तक पहुंचाएं।


उन्होंने जिले में स्थापित फीवर क्लीनिक पर आने वाले लोगों की संख्या तथा कोविड टेस्ट की भी जानकारी ली। जिले मे अभी कुल 20 फीवर क्लीनिक है। उन्होंने अधिक भीड़ वाले स्थानों पर भी लोगों के सेम्पल लेने के निर्देश दिए। इसी प्रकार प्रायवेट हॉस्टिल्स में सिटी स्कैन तथा कोविड-19 पॉजीटिव मरीजों के उपचार संबंधी व्यवस्थाओं की जानकारी लेते हुए निर्देश दिए कि शासन द्वारा निर्धारित दर पर ही सिटी स्कैन तथा उपचार किया जाए। सभी हॉस्पिटल मुख्य द्वार पर, हॉस्पिटल लिए जाने वाले शुल्क का विवरण साफ़ अक्षरों में चस्पा करें।
स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी ने कहा कि कोरोना संक्रमण के नियंत्रण में जिला स्तर से ग्राम स्तर तक क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की महत्वपूर्ण भूमिका है। पिछली बार की तरह इस बार भी क्राइसिस मैनेजमेंट समिति की सक्रियता जरूरी है। उन्होंने जिले में वैक्सीनेशन की जानकारी लेते हुए कहा कि 15 से 18 वर्ष की आयु के सभी पात्र बच्चों का जल्द से जल्द वैक्सीनेशन सुनिश्चित कराएं। साथ ही वैक्सीन की दूसरी डोज से जो शेष रह गए हैं उन्हें भी वैक्सीन लगवाएं। बैठक में सिलवानी विधायक श्री रामपाल सिंह, उदयपुरा विधायक श्री देवेन्द्र पटेल, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती अनीता किरार तथा डॉ जयप्रकाश किरार भी उपस्थित थे।
बैठक में जिले में ऑक्सीजन की उपलब्धता की समीक्षा के दौरान कलेक्टर श्री दुबे ने बताया कि जिला चिकित्सालय में 1000 एलपीएम क्षमता का तथा सिविल अस्पताल उदयपुरा एवं बेगमगंज में 100 एलपीएम क्षमता के ऑक्सीजन प्लांट चालू हो गए हैं। सभी ऑक्सीजन प्लांट की मॉकड्रिल की जा चुकी है। जिले में 430 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर उपलब्ध हैं जिसमें से 72 जिला चिकित्सालय में रखे गए हैं। जिले में 865 ऑक्सीजन सिलेण्डर उपलब्ध हैं।
जिला चिकित्सालय में एक सिटी स्केन मशीन एवं 19 वेंटीलेटर उपलब्ध है। सिविल अस्पताल मण्डीदीप में तीन और बेगमगंज तथा बरेली में एक-एक वेंटीलेटर उपलब्ध है। जिले के पॉच प्रायवेट हॉस्पिटल में कोविड उपचार की सुविधा उपलब्ध है इनमें तीन मण्डीदीप में, एक रायसेन तथा एक दीवानगंज में स्थित है। इन अस्पतालों में कोविड मरीज के लिए 13 आईसोलेशन बेड एवं 11 ऑक्सीजन सपोर्ट बेड कुल 24 बेड आरक्षित किए गए हैं।
कलेक्टर श्री दुबे ने अवगत कराया कि जिला स्तर पर एक कोविड केयर सेंटर स्थापित किया गया है तथा प्रत्येक विकासखण्ड स्तर पर एक-एक कोविड केयर सेंटर स्थापित किया जा रहा है। मण्डीदीप में ल्यूपिन लिमिटेड द्वारा 50 बिस्तर का कोविड केयर सेंटर स्थापित किया गया है। प्रत्येक विकासखण्ड स्तर पर संस्थागत क्वारंटाइन सेंटर के लिए भवन चयनित कर लिए गए हैं। जिन्हें आवश्यकतानुसार एक्टिव किया जाएगा। उन्होंने बताया कि सम्पूर्ण जिले में रोको टोको अभियान चलाया जा रहा है। समझाईश के उपरांत भी मास्क नहीं लगाने पर जुर्माना किया जा रहा है। रोको टोको अभियान के तहत जिले में अब तक 40900 रू का जुर्माना किया गया है। इसके साथ ही जिले में समय-समय पर ब्लॉक स्तरीय एवं ग्राम स्तरीय क्राईसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठकों का आयोजन किया जा रहा है। बैठक में अपर कलेक्टर श्री अनिल डामोर, जिला पंचायत सीईओ श्री पीसी शर्मा, सीएमएचओ डॉ दिनेश खत्री सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

शासकीय जमीन पर कब्जा व अतिक्रमण होने पर तत्काल करें कार्रवाई- डॉ गौरव सिंह कलेक्टर     |     TODAY :: राशिफल मंगलवार 16 जुलाई 2024     |     सी एम एच ओ के निर्देश पर डेढ़ दर्जन क्लिनिक्स की हुई जांच,जांच रिपोर्ट के आधार पर की जा रही वैधानिक कार्यवाही     |     नगर पालिका के तत्वाधान में सुंदरवन में किया पौधा रोपण अभियान का शुभारंभ     |     केन्द्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास मंत्री शिवराजसिंह चौहान की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में बैठक सम्पन्न     |     आभार सभा को संबोधित करते हुए शिवराज सिंह चौहान ने कहा-जान भले ही चली जाए आपके विश्वास को टूटने नहीं दूंगा     |     ग्रामीण उपभोक्ता बिजली की अघोषित कटौती से परेशान     |     सुदाम खाड़े ने जनसंपर्क संचालनालय में आयुक्त जनसंपर्क का पदभार ग्रहण किया     |     माता कंकाली धाम पर 500 पेड़ों का सघन वृक्षारोपण एसडीएम तहसीलदार पटवारी ने लगाए पौधे     |     रात में स्तूप रोड पूरी तरह अंधेरे में,दिन में जलती हे लाइट     |    

Don`t copy text!
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9425036811