Let’s travel together.

अच्छी बारिश के बाद पवा स्थित जलप्रपात शुरू, दिखा जोरदार नजारा

0 90

शिवपुरी जिला मुख्यालय से करीब 40 किलोमीटर दूर है पवा जलप्रपात

– पवा झरने पर 100 फीट ऊपर से नीचे गिरता है पानी

शिवपुरी से रंजीत गुप्ता

शिवपुरी से लगभग 40 किलोमीटर दूर प्रसिद्ध पवा धार्मिक स्थल पर जलप्रपात शुरू हो गया है। बीते कुछ दिनों से हो रही अच्छी बारिश के बाद पवा जलप्रपात पर 100 फीट ऊंचाई से नीचे पानी गिर रहा है। रविवार को जलप्रपात पर पानी आने के बाद बड़ी संख्या में पर्यटक यहां का प्राकृतिक सौंदर्य देखने के लिए पहुंचे। गौरतलब है कि पवा जलप्रपात जंगल के बीच स्थित है और यह धार्मिक स्थल दूर-दूर तक प्रसिद्ध है। इस जलप्रपात पर जंगली क्षेत्र से पानी आकर ऊंचाई से गिरता है और ऊंचाई से पानी गिरने पर यहां प्रकृति का अनोखा नजारा देखने को मिलता है।

धार्मिक आस्था का केंद्र –

पवाधाम धार्मिक आस्था का केंद्र भी है यहां पर मुनिश्री संत रामदास महाराज का आश्रम है।इसके अलावा यहां एक गौशाला भी है जो जनभागीदारी आधार पर चलाई जाती है। गौशाला का संचालन करने वाले समाजसेवी वीरेंद्र शर्मा ने बताया कि वर्तमान में यहां 185 गोधन है इनकी सेवा की जा रही है।

जलप्रपात के नीचे हैं प्राकृतिक गुफाएं –

पवा स्थित जलप्रपात के नीचे कई प्राकृतिक गुफाएं भी हैं। यहां पर प्राचीन काल में कई साधु संतों ने साधना ने की है। इसके अलावा ऐसी मान्यता है कि महाभारत काल के दौरान पांडवों ने भी यहां पर अपना अज्ञातवास काटा है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

राजेश बादल की नई किताब::“यह अंतिम था, जिसे पोर्टल प्रकाशित करने का साहस नहीं दिखा सका और मैंने यह कॉलम बंद कर दिया।“     |     क्षेत्र मे दहशत फैलाने वाले कुख्यात शराब तस्कर व आदतन आरोपी  NSA में गिरफ्तार कर केन्द्रीय जेल भोपाल भेजा गया     |     कुंडलपुर में आचार्य पदारोहण न भूतों न भविष्यति,एक नहीं दो दो मोहन बने साक्षी     |     सात दिवसीय श्रीमद्भागवत कथा का समापन     |     प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में दिल्ली की तीन सदस्य टीम का निरीक्षण     |     सप्त दिवसीय हनुमत शिव पंचायत, प्राण प्रतिष्ठा एवं राम कथा प्रवचन का आयोजन,कलश यात्रा निकली     |     नवरात्र के आखिरी दिन मंदिरों में भक्तों की रही भीड़     |     सवारी ऑटो को एसडीएम के जीप चालक ने मारी टक्कर, एक की मौत,चैत्र दुर्गा माता की अष्टमी पर पूजन करने रायसेन आया था आदिवासी परिवार     |     श्रीरामनवमी पर शहर में निकली जवारो की शोभा यात्रा, मिश्रा तालाब पर किया गया विसर्जन     |     दैवियां हमारे जीवन में नौ दिन के लिए नहीं बल्कि सदा के लिए परिवर्तन चाहती हैं- ब्रह्माकुमारी रुक्मिणी दीदी     |    

Don`t copy text!
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9425036811