Let’s travel together.

बड़े पैमाने पर टीकाकरण की वजह से ओमिक्रोन ज्यादा प्रभावी नहीं, फिर भी सावधानी जरूरी- ज्योतिरादित्य सिंधिया

0 486

केन्द्रीय मंत्री श्री सिंधिया ने की कोरोना से निपटने के लिए की गईं तैयारियों की समीक्षा

ग्वालियर ।केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया गुरुवार को ग्वालियर के दौरे पर आए इस दौरान श्री सिंधिया ने कोरोना को लेकर समीक्षा बैठक ली।इस आशय के निर्देश केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दिए। श्री सिंधिया डिस्ट्रिक्ट क्राइसेस मैनेजमेंट ग्रुप और संबंधित अधिकारियों की बैठक में कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिये की गई तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे।

इस मौके पर श्री सिंधिया ने कहा कि लक्षण दिखाई देने पर जो लोग स्वयं कोरोना की जाँच कराने आते हैं और जिनकी जाँच सरकारी अमले द्वारा अभियान के तहत की जाती है, दोनों तरह की जाँचों की अलग-अलग संक्रमण दर (पॉजिटिविटी रेट) निकालें। जिससे सही-सही संक्रमण दर का पता लगे और मरीजों की बेहतर देखभाल की जा सके।


गुरूवार को यहाँ मोतीमहल के मानसभागार में आयोजित हुई बैठक में केन्द्रीय मंत्री श्री सिंधिया ने डीआरडीओ ग्वालियर में कोरोना सेम्पल की जीनोम सीक्वेंसिंग कराने के निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा कि राज्य अथवा केन्द्र सरकार जहां से भी डीआरडीओ में जीनोम सीक्वेंसिंग कराने की अनुमति की जरूरत होगी वहाँ से अनुमति दिला दी जायेगी। बैठक में सांसद श्री विवेक नारायण शेजवलकर ने डीआरडीओ ग्वालियर में जीनोम सीक्वेंसिंग कराए जाने की ओर ध्यान आकर्षित किया था।
केन्द्रीय मंत्री श्री सिंधिया ने बैठक में जोर देकर कहा कि शहर के साथ-साथ ग्रामीण अंचल में भी प्रमुखता के साथ कोरोना की जाँच कराई जाए। उन्होंने कहा कि बड़े पैमाने पर हुए टीकाकरण की वजह से वर्तमान में ओमिक्रोन ज्यादा प्रभाव नहीं डाल पा रहा है। फिर भी हमें पूरी तरह सावधानी बरतने की जरूरत है। कोविड अनुरूप व्यवहार के पालन के साथ-साथ सभी एहतियाती उपाय जरूरी हैं। पुराने अनुभव बताते हैं कि कोरोना वायरस तेजी के साथ अपना रूप बदलता है। इस बात को ध्यान में रखकर हमें हर समय कोरोना से निपटने की पुख्ता तैयारियां रखनी हैं।

शत प्रतिशत बच्चों का कराएँ टीकाकरण – सिंधिया

केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बैठक में विशेष जोर देकर कहा कि डोर टू डोर सर्वे कर 15 से 17 वर्ष आयु वर्ग के शतप्रतिशत बच्चों को कोरोना के टीके लगवाएं। उन्होंने कहा बीएलओ, नगर पालिका निगम के कर्मचारी, ग्रामीण क्षेत्र में पंचायत के कर्मचारी मिलकर इस काम को अंजाम दें। बैठक में मौजूद जनप्रतिनिधियों से भी उन्होंने आग्रह किया कि इस पुनीत काम में आप सब भी सहयोग करें। श्री सिंधिया ने 60 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के बुजुर्गों को तेजी के साथ प्रिकोशन डोज लगाने पर भी विशेष बल दिया। साथ ही कहा कि सभी स्वास्थ्य कर्मी और फ्रंट लाईन वर्कर्स को भी प्रमुखता के साथ प्रिकोशन डोज लगवाए जाएं।

बैठक में इनकी रही मौजूदगी

बैठक में प्रदेश के लोक निर्माण राज्य मंत्री श्री सुरेश धाकड़, सांसद श्री विवेक नारायण शेजवलकर, लघु उद्योग विकास निगम की अध्यक्ष श्रीमती इमरती देवी, जिला पंचायत प्रशासकीय समिति की अध्यक्ष श्रीमती मनीषा यादव, पूर्व मंत्री श्रीमती माया सिंह व श्री नारायण सिंह कुशवाह, भाजपा जिला अध्यक्ष शहर श्री कमल माखीजानी व ग्रामीण श्री कौशल शर्मा, पूर्व विधायकगण श्री रमेश अग्रवाल , श्री रामबरन सिंह गुर्जर व श्री मदन कुशवाह एवं पूर्व महापौर श्रीमती समीक्षा गुप्ता सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण, संभाग आयुक्त श्री आशीष सक्सेना, पुलिस महानिरीक्षक श्री अनिल शर्मा, कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री अमित सांघी, नगर निगम आयुक्त श्री किशोर कान्याल, स्मार्ट सिटी की सीईओ श्रीमती जयति सिंह, अपर कलेक्टर श्री इच्छित गढ़पाले, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मनीष शर्मा, जिले के सभी एसडीएम व अन्य इंसीडेंट कमाण्डर तथा क्राइसेस मैनेजमेंट ग्रुप के अन्य सदस्यगण मौजूद थे।

कमाण्ड सेंटर से फोन और वीडियोकॉलिंग से जाने कोरोना मरीजों के हालचाल

केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बैठक से पहले स्मार्ट सिटी के कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सेंटर का जायजा लिया। उन्होंने यहाँ संचालित कोविड हैल्पलाइन सेवा से टेलीफोन और वॉट्सएप वीडियो कॉलिंग के जरिए होम आइसोलेट मरीजों से बात कर उनके हालचाल जाने। केन्द्रीय मंत्री श्री सिंधिया ने श्रीमती तानिया व श्री मृगांक सहित अन्य मरीजों से चर्चा की। एलआईसी में पदस्थ श्रीमती लक्ष्मी का कहना था कि कमाण्ड सेंटर द्वारा सतत संपर्क रखकर हमें सलाह दी जाती है। साथ ही दवायें मुहैया कराई गई हैं। इसी तरह मृगांक बोले कि हमारा आप सबको दिल से धन्यवाद है। प्रशासन ने हमारा पूरा ख्याल रखा है।

एक हफ्ते में ओला प्रभावित किसानों को राहत वितरण सुनिश्चित करें

केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने जिले में ओलावृष्टि से प्रभावित फसलों के सर्वेक्षण और राहत वितरण की समीक्षा भी की। उन्होंने एक हफ्ते के भीतर सभी प्रभावित किसानों के खाते में राहत पहुँचाने के निर्देश दिए।
बैठक में जानकारी दी गई कि जिले में ओलावृष्टि से 51 गाँवों व उनसे जुड़े मजरों के लगभग 14 हजार 224 किसानों की करीबन 10 हजार 442 हैक्टेयर रकबे की फसल प्रभावित हुई है। प्रभावित किसानों को लगभग 23 करोड़ 88 लाख रूपए की राहत राशि वितरित की जायेगी। सर्वेक्षण का काम पूर्ण किया जाकर राहत वितरित करने के लिये बिल लगाए जा रहे हैं। जल्द ही सिंगल क्लिक के जरिए सभी प्रभावित किसानों के खातों में राहत राशि पहुँचाई जायेगी।

उपार्जन में गड़बड़ी करने वालों के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई करें

केन्द्रीय नगारिक उड्डयन मंत्री श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने समर्थन मूल्य पर फसल उपार्जन में गड़बड़ी करने वालों के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई करने के निर्देश भी बैठक में दिए। उन्होंने कहा विशेष मुहिम चलाकर गलत पंजीयन कराने वालों, गड़बड़ी करने वाले कर्मचारियों व ऐसे व्यापारियों को खोजें जो किसानों के नाम पर समर्थन मूल्य पर उपज बेचने की जुर्रत करते हैं। इन सभी के खिलाफ पुलिस कार्रवाई के साथ-साथ अन्य कानूनी प्रावधानों के तहत कठोरतम कार्रवाई की जाए। कार्रवाई ऐसी हो जो ऐसा उदाहरण बने कि कोई अन्य गड़बड़ी करने की जुर्रत न कर पाए। श्री सिंधिया ने कहा कि शिकायत का इंतजार किए बगैर पहले से ही कार्रवाई करें, जिससे पारदर्शिता के साथ खरीदी हो सके। उन्होंने खरीदी केन्द्रों पर उपज की मानकता जांच के लिये तैनात किए जाने वाले सर्वेयर को पूरा संरक्षण देने पर भी बल दिया।

पॉजिटिविटी रेट में आई गिरावट

कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने बैठक में जानकारी दी कि पिछले एक हफ्ते में कोरोना संक्रमण दर (पॉजिटिविटी रेट) में कमी आई है। उन्होंने बताया कि जिले में तीसरी लहर के दौरान अधिकतम पॉजिटिविटी रेट 16.25 प्रतिशत तक पहुँची थी, जो अब घटकर 9.27 प्रतिशत पर आ गई है। उन्होंने यह भी जानकारी दी कि जिले में वर्तमान में कुल 3 हजार 335 एक्टिव कोरोना केस हैं। इनमें से मात्र 55 मरीज अस्पताल में भर्ती हैं। शेष मरीज घर पर ही आइसोलेट होकर अपना इलाज करा रहे हैं। कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सेंटर के माध्यम से दिन में दो बार घर पर आइसोलेट मरीजों से संपर्क किया जाता है। साथ ही सभी को घर पर ही दवाएँ पहुँचाई जा रही हैं। उन्होंने जानकारी दी कि जिले में वर्तमान में 257 माइक्रो कंटेनमेंट जोन एक्टिव हैं। कलेक्टर ने कोविड से निपटने के लिये अस्पतालों में की गई व्यवस्थाओं पर भी विस्तार से प्रकाश डाला।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

इस बार हनुमान जन्मोत्सव पर वन रहा अद्भुत संयोग, कई वर्षों बाद मंगलवार को पड़ेगी जयंती     |     TODAY :: राशिफल मंगलवार 23 अप्रेल 2024     |     विदिशा संसदीय क्षेत्र में 13 अभ्यर्थी चुनाव मैदान में नाम वापसी के अंतिम तीन अभ्यर्थियों ने वापस लिया नाम निर्देशन पत्र     |     हनुमान जयंती पर विशेष:: घोड़े पर सवार होकर आए थे धरसीवा में चमत्कारिक हनुमानजी     |     मतदान के लिए जागरूकता शिविर आयोजित     |     विश्व पर्यटन स्थली साँची में प्याऊ उगल रही गर्म पानी पर्यटक एवं राहगीर परेशान     |     एस एस टी चैक पाइंट पर जप्त किए लगभग साढे चार लाख रुपए एवं कूपन     |     भाजपा प्रत्याशी श्री शिवराज सिंह चौहान 23 अप्रेल को करेंगे रोड शो     |     आबकारी अमले ने गुड लहन से भर सात ड्रम देशी शराब को किया नष्ट,दो आरोपी मौके से गिरफ्तार ,एक अज्ञात के खिलाफ प्रकरण दर्ज     |     अनिकेत ठाकुर की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत के एक माह बाद भी नही पकड़े गये हत्यारे,परिजनों ने DFO को दिया ज्ञापन     |    

Don`t copy text!
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9425036811