Let’s travel together.

पति बोला हो गई थी भूल, अब किए पर पछतावा है, पत्नी ने भी भुला दिए गिले-शिकवे

0 70

– परिवार परामर्श केन्द्र की बैठक में 2 दम्पत्तियों में हुआ राजीनामा

शिवलाल यादव

रायसेन। गुस्से में आकर एक युवक ने अपने ससुर के साथ बदसलूकी कर दी।इतना ही नहीं उसने ससुर को मारने हाथ भी उठा दिया। उसकी यही बेहूदा हरकत की वजह से उसके दाम्पत्य रिश्ते में खटास बढ़ गई थी। पिता के इस अपमान से आहत पत्नी उसे छोड़कर मायके जाकर रहने लगी। हालांकि बाद में युवक को अपनी गलती अहसास भी हुआ। विवाद का यह मामला जब परिवार परामर्श केंद्र रायसेन में आया तो युवक ने स्वीकार किया कि उससे भूलवश गलती हुई थी।जिसका उसे पछतावा है।आइंदा ऐसा कभी नहीं होगा।पत्नी ने भी उसे माफ कर दिया। एक बार फिर दोनों साथ रहने को राजी हो गए।


मामला रायसेन निवासी एक युवक का है, जिसकी शादी भोपाल निवासी युवती से हुई थी। शादी के दो-ढाई साल सब ठीक रहा।लेकिन एक बार जब युवक का ससुर अपनी बेटी को लिवाने आया तो युवक को यह बात नागवार गुजरी। वह पत्नी को मायके भेजने के पक्ष में नही था। इसी बात पर दोनों में विवाद हो गया और दामाद ने ससुर पर हाथ उठा दिया। इस तरह पिता के अपमान से बेटी काफी आहत हुई और पति को छोड़कर मायके जाकर रहने लगी। जब यह प्रकरण परिवार परामर्श केंद्र में आया तो पत्नी ने बताया कि पति मायके जाने और माता पिता से बात करने में आपत्ति करता है। उसने पिता के अपमान की बात भी कही। युवक ने माना कि उससे गलती हो गई थी। लेकिन आइंदा ऐसा कभी नहीं होगा। पति के वचन देने पर पत्नी ने भी गिले शिकवे भुला दिए और पति के साथ रहने को राजी हो गई। परिवार परामर्श केंद्र रायसेन ने दोनों को खुशहाल जीवन की शुभकामनाएं देकर विदा किया।
एक अन्य प्रकरण में युवक ने आवेदन दिया था कि उसकी मौसी सास उसकी पत्नी को नहीं आने दे रही है। वह कई बार लिवाने गया लेकिन ससुराल वालों ने बोल दिया कि वह मौसी के यहाँ गई है, और मौसी उसे भेजने से मना कर देती है। पति -पत्नी को परिवार परामर्श केंद्र में बुलाकर समझाया गया तो दोनों साथ रहने को राजी हो गए। हालांकि पत्नी ने यह स्पष्ट नहीं किया कि मौसी उसे ससुराल क्यों नहीं जाने दे रही थी।लेकिन उसने बताया कि वह पति के साथ जाना चाहती है। बैठक में कुल 8 प्रकरण रखे गए थे, जिसमे से 4 प्रकरणों को सुनवाई के बाद निपटाया गया। 2 प्रकरणों में राजीनामा हुआ व 2 प्रकरणों में पक्षकारों को न्यायालय में जाने की सलाह देकर प्रकरण नस्तीबद्ध किए गए। 4 प्रकरणों में पक्षकारों के अनुपस्थित रहने पर आगामी तारीख दी गई। परामर्श केंद्र की बैठक में एसडीओपी अदिति भावसार, अध्यक्ष कैलाश श्रीवास्तव, सलाहकार अशोक गुप्ता, चेतन राय, अनीता राजपूत, एएसआई अनिल वर्मा, आरक्षक लोकेंद्र मोर्य उपस्थित रहे।
उल्लेखनीय है कि एसपी विकाश कुमार शहवाल के मार्गदर्शन में हर मंगलवार को एसडीओपी कार्यालय रायसेन में परिवार परामर्श केंद्र की बैठक आयोजित की जाती है।जिसके माध्यम से परिवारिक विवादों को आपसी सहमति के सुलझाने का प्रयास किया जाता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

पत्नी को किन्नर बताकर पहली ही रात दिया तीन तलाक, बोला- साली से करवाओ शादी, थाने पहुंच गई बात     |     बागपत के अस्पताल में लगी आग… नहीं था NOC, आग बुझाने वाले भी छोड़कर बाहर भागे     |     स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा का एटीएम कई दिनों से बंद,उपभोक्ता परेशान     |     ट्रैक्टर ट्रालियो का व्यवसायिक उपयोग,ट्रालियों पर रेडियम प्लेट न होने से दुर्घटना की आशंका     |     भारतीय ज्ञान परम्परा सबसे प्राचीन है जो विश्व मे आज भी प्रासंगिक है -डा.ए.डी.एन वाजपेयी     |     सेवा भारती द्वारा संस्कार केन्द्रों का शुभारंभ     |     TODAY :: राशिफल सोमवार 27 मई 2024     |     शिवपुरी खनन माफियाओं पर कार्रवाई, जेसीबी और डंपर जप्त, कई क्रेशर व प्लांट पर मिली खामियां     |     दुर्लभ जीवित प्राणी इगुआना एवं एंपरर स्कॉर्पियन देवास से जप्त     |     यातायात व्यवस्था सुगम बनाने निकला पुलिस आमला ,4 वाहन जब्त      |    

Don`t copy text!
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9425036811