Let’s travel together.

कुण्डलपुर और बांदकपुर को पवित्र क्षेत्र बनाया जायेगा : मुख्यमंत्री श्री चौहान

0 540

 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का दावा – अपनी सरकार को दांव पर लगाकर बड़े बाबा को बड़े सिंहासन पर विराजमान किया

– आचार्यश्री ने कहा कि भारत के गौरवशाली इतिहास को पुन: स्थापित करने देश को इंडिया के बजाय भारत बनाना होगा ..

– मुनिश्री सुधासागर जी ने दिया सुझाव कुंडलपुर के आसपास 100 किलोमीटर क्षेत्र में पशुओं के लिये अभ्यारण्य बनाया जाए

कुंडलपुर (दमोह)। मप्र के सबसे पवित्र जैन तीर्थ कुंडलपुर में आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंहासन चौहान ने घोषणा की कि कुंडलपुर बांदकपुर के आसपास के 7 किलोमीटर क्षेत्र को पवित्र स्थल के रूप में नोटिफाई किया जाएगा, यहां मांस मदिरा व अन्य अनैतिक गतिविधियों पर सख्ती से रोक रहेगी। चौहान आज सपत्नीक कुंडलपुर महोत्सव में शामिल होने पहुंचे थे। उन्होंने दावा कि 2006 में बड़े बाबा को बड़े सिंहासन पर विराजमान करने उन्होंने अपनी सरकार को दांव पर लगा दिया था।

कुंडलपुर महोत्सव में आज ज्ञान कल्याणक (पूर्व) के धार्मिक अनुष्ठान प्रतिष्ठाचार्य विनय भैया के निर्देशन में किये गये। दोपहर में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपने मंत्रिमंडल सहयोगी गोपाल भार्गव व ओमप्रकाश सकलेचा के साथ महोत्सव स्थल पहुंचे। उनके साथ उनकी पत्नि श्रीमती साधना सिंह भी थीं। कुंडलपुर कमेटी ने चांदी का मुकुट पहनाकर, चांदी का प्रशस्ति पत्र उन्हें सौंपा। चौहान ने आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज के चरणों में श्रीफल भेंटकर आचार्यश्री का संघ सहित आशीर्वाद लिया।

आचार्यश्री को प्रणाम किये बिना घर से नहीं निकलता

कुंडलपुर महोत्सव में विशाल जनसमूह को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कुंडलपुर अब पवित्र तीर्थों की सूची में दर्ज होगा। उन्होंने 17 जनवरी 2006 की तारीख को याद करते हुए कि मुख्यमंत्री का पद संभाले सिर्फ दो महीने हुए थे, तभी आचार्यश्री ने बड़े बाबा को बड़े सिंहासन पर विराजमान करने का भाव किया। कलेक्टर एसपी और सभी कानूनविद चेतावनी दे रहे थे कि ऐसा हुआ तो सरकार जा सकती है। मैंने तय कर लिया सरकार जाए तो चली जाए, लेकिन आचार्यश्री की भावना के अनुसार बड़े बाबा को बड़े सिंहासन पर विराजमान करके रहेंगे। चौहान ने कहा कि पिछले चुनाव में हमारी सरकार चली गई थी। हमने सोचा अब पांच साल तक विपक्ष में बैठना है, लेकिन बडे बाबा आदिनाथ भगवान और छोटे बाबा आचार्यश्री की कृपा से मुझे फिर से मुख्यमंत्री पद मिला। मैं भाग्यशाली हूं कि बड़े बाबा के भव्य व दिव्य मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा मेरे कार्यकाल में हो रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार के संचालन में कभी कभी कुछ अड़चनें आती हैं। कुछ फैसले लेने में परेशानी होती है। ऐसे में मैं आचार्यश्री के चित्र के सामने ध्यान लगाने बैठता हूं और मेरी सारी समस्याओं का हल मुझे मिल जाता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आचार्यश्री को प्रणाम किये बिना वह घर से नहीं निकलते। चौहान ने पहली बार आचार्यश्री से कहा कि सभी के प्रति करूणा रखने वाले आचार्यश्री अपने शरीर के प्रति इतने निर्मोही क्यों हैं? मानवता के कल्याण के लिये आचार्य भगवन का हमारे बीच रहना बहुत जरूरी है।

इंडिया नहीं भारत बोलो : आचार्यश्री
 
आचार्यश्री ने अपने संक्षिप्त प्रवचन में कहा कि भारत के गौरवशाली इतिहास को सामने लाना जरूरी है। उन्होंने कहा कि सबसे पहले अब इंडिया नहीं भारत बोलने का प्रचलन होना चाहिए। उन्होंने कहा कि कोरोना जैसी महामारी का ईलाज भारतीय आयुर्वेद के पास ही है।

मुनि सुधासागर जी का सुझाव

 आचार्यश्री के प्रवचन से पहले निर्यापक मुनिश्री सुधासागर जी महाराज ने सुझाव दिया कि कुंडलपुर के 100 किलोमीटर क्षेत्र को पशुओं के लिये अभ्यारण्य घोषित किया, जहां पशु निर्भय होकर विचरण कर सकें।

ज्ञान कल्याणक मंगलबार को   

कुंडलपुर महोत्सव में कल मंगलवार को भगवान आदिनाथ का ज्ञान कल्याणक महोत्सव मनाया जाएगा। सुबह से ही धार्मिक अनुष्ठान शुरू होंगे। दोपहर में आचार्यश्री समोशरन में बैठकर प्रवचन देंगे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

शीशे की दीवार-आतंकी जैसा व्यवहार… तिहाड़ में केजरीवाल से मिलकर छलका भगवंत मान का दर्द     |     हरिद्वार: मंदिर में दर्शन करने आए श्रद्धालुओं को पुजारियों ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, क्या रही वजह?     |     मनोज तिवारी ने 10 साल में क्या किया? नॉर्थ ईस्ट दिल्ली से टिकट मिलने पर कन्हैया का BJP पर हमला     |     उज्जैन: लाठी, पाइप-सरिया…. जो मिला उससे पीटा, शादी समारोह बना अखाड़ा, बुलानी पड़ी पुलिस     |     केजरीवाल की याचिका पर थोड़ी देर में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, ED की गिरफ्तारी को दी है चुनौती     |     10वीं तक पढ़ाई, 5 से ज्यादा आपराधिक मामले, जानें कौन है सलमान के घर के बाहर फायरिंग करने वाला कालू     |     नेहरू ने म्यांमार को गिफ्ट में दिया कोको द्वीप, अब इस पर चीन का नियंत्रण- बीजेपी नेता का कांग्रेस पर हमला     |     कांग्रेस Vs बीजेपी: सहयोगियों के आगे कौन, कहां झुका? 543 सीटों पर सीट समझौते की 5 अहम बातें     |     अभी और भड़केगी जंग की आग, ईरान से बदले का प्लान तैयार, इजराइल कभी भी कर सकता है हमला     |     राहुल गांधी का हेलिकॉप्टर जैसे ही उतरा, पहुंच गई चुनाव आयोग की जांच टीम…फिर चला तलाशी अभियान     |    

Don`t copy text!
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9425036811