Let’s travel together.

इन राशियों पर शुरू होगी शनि की साढ़ेसाती

0 563

ज्योतिष में नौ ग्रहों और बारह राशियों के महत्व के बारे में बताया गया है। इसका प्रभाव हमारे जीवन पर पड़ता है। ये ग्रह समय-समय पर एक राशि से दूसरी राशि में भ्रमण करते रहते हैं। चूंकि हर व्यक्ति का संबंध किसी न किसी राशि से भी होता है, इस कारण इन ग्रहों के राशि परिवर्तन का असर भी तमाम राशियों पर देखने को मिलता है। किसी के लिए ये राशि परिवर्तन शुभ, तो किसी ​के लिए अशुभ साबित होता है। साल 2022 में भी कई ग्रह अपनी राशि परिवर्तन करने वाले हैं। शनि को ज्योतिष में कर्मफल दाता यानी कर्मों के अनुसार फल देने वाला माना गया है। जब शनि अपनी राशि बदलता है तो किसी न किसी राशि पर शनि की ढैय्या या साढ़ेसाती की शुरुआत होती है।

नया साल यानी 2022 में शनि एक बार फिर से राशि परिवर्तन करेंगे। अभी शनि मकर राशि में मौजूद हैं। इसके कारण मकर राशि पर शनि साढ़ेसाती का दूसरा चरण, कुंभ पर पहला और धनु पर तीसरा च​रण चल रहा है। 29 अप्रैल 2022 को शनि फिर से राशि बदलेंगे और वो मकर से निकलकर कुंभ राशि में प्रवेश करेंगे।

कुंभ राशि के लिए बढ़ेगी मुश्किल

शनि की साढ़ेसाती के तीन चरण होते हैं। हर चरण ढाई-ढाई साल का होता है, इस तरह पूरे साढ़े सात साल की साढ़ेसाती होती है। पहले चरण में मानसिक परेशानियां मिलती हैं, दूसरे चरण में शारीरिक, मानसिक और आर्थिक परेशानियां मिलती हैं और तीसरे चरण में शनि के कष्ट कम होने लगते हैं, क्योंकि इस चरण में शनि व्यक्ति को उसकी भूल सुधारने का मौका देते हैं। मकर राशि से कुंभ राशि में जाते ही कुंभ का साढ़ेसाती का दूसरा चरण शुरू हो जाएगा। ऐसे में कुंभ रा​शि के लोगों को तमाम मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में अपने कर्मों में सुधार करें और अधिक से अधिक परोपकार के काम करें। इससे शनि संबंधी कष्ट कम हो सकते हैं।

मकर पर आखिरी और मीन पर पहला चरण होगा

राशि परिवर्तन के साथ मकर राशि पर साढ़ेसाती का आखिरी चरण शुरू होगा और मीन पर पहला चरण होगा। इसके अलावा धनु राशि वालों को शनि की साढ़ेसाती से मुक्ति मिल जाएगी। कहा जाता है कि साढ़ेसाती जब समाप्त होती है, तो शनि उस राशि के लोगों को कुछ न कुछ देकर जाते हैं, क्योंकि तब तक व्यक्ति तमाम कष्ट भोगकर अपने कर्मों का प्रायश्चित कर चुका होता है। ऐसे में शनि की साढ़ेसाती के समाप्त होने से धनु राशि वालों को कोई लाभ हो सकता है।

इन राशियों पर शुरू होगी ढैय्या

शनि की ढैय्या ढाई साल की होती है, इसीलिए इसे ढैय्या कहा जाता है। 29 अप्रैल को राशि परिवर्तन के साथ ही दो राशियों कर्क और वृश्चिक पर ढैय्या शुरू हो जाएगी और मिथुन और तुला राशि वालों को ढैय्या से मुक्ति मिल जाएगी।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.

हरिद्वार: मंदिर में दर्शन करने आए श्रद्धालुओं को पुजारियों ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, क्या रही वजह?     |     मनोज तिवारी ने 10 साल में क्या किया? नॉर्थ ईस्ट दिल्ली से टिकट मिलने पर कन्हैया का BJP पर हमला     |     उज्जैन: लाठी, पाइप-सरिया…. जो मिला उससे पीटा, शादी समारोह बना अखाड़ा, बुलानी पड़ी पुलिस     |     केजरीवाल की याचिका पर थोड़ी देर में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, ED की गिरफ्तारी को दी है चुनौती     |     10वीं तक पढ़ाई, 5 से ज्यादा आपराधिक मामले, जानें कौन है सलमान के घर के बाहर फायरिंग करने वाला कालू     |     नेहरू ने म्यांमार को गिफ्ट में दिया कोको द्वीप, अब इस पर चीन का नियंत्रण- बीजेपी नेता का कांग्रेस पर हमला     |     कांग्रेस Vs बीजेपी: सहयोगियों के आगे कौन, कहां झुका? 543 सीटों पर सीट समझौते की 5 अहम बातें     |     अभी और भड़केगी जंग की आग, ईरान से बदले का प्लान तैयार, इजराइल कभी भी कर सकता है हमला     |     चैत्र नवरात्रि के 7 वां दिन :: मां के कालरात्रि रूप की पूजा     |     TODAY :: राशिफल सोमवार 15 अप्रेल 2024     |    

Don`t copy text!
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9425036811