Let’s travel together.

महिला कुली दुर्गा बनेगी दुल्हन, रेलवे स्टेशन के वेटिंग रूम में हुई हल्दी – मेहंदी की रस्म , सांसद भी हुए शामिल, रेलवे स्टाफ ने किया डांस..

0 128

बैतूल। मध्य प्रदेश के बैतूल के रेलवे स्टेशन के यात्री प्रतीक्षालय में एक अलग ही नजारा देखने को मिला। बुधवार को यहां पर महिलाएं गीत गा रहीं थीं और डांस कर रहीं थीं। बैतूल के रेलवे स्टेशन के वेटिंग रूम में महिला कुली दुर्गा बोरकर की शादी को लेकर मेहंदी और हल्दी की रस्म अदा की गई। इस कार्यक्रम में सांसद दुर्गादास उइके भी शामिल हुए। इसके साथ ही रेलवे स्टाफ और आरपीएफ स्टाफ भी मौजूद रहा।

कुली दुर्गा की शादी से पहले निभाई जाने वाली रस्मों को रेल प्रशासन से जुड़े अधिकारियों और आरपीएफ के स्टाफ ने पूरा किया। आपको बता दें की दुर्गा के पिता बैतूल रेलवे स्टेशन पर काम करते थे। लेकिन उनके पैरों ने जवाब दे दिया था। जिसके बाद दुर्गा ने पिता की जिम्मेदारी उठाने का फैसला किया और कुली का बिल्ला अपने नाम कराने के लिए उसने प्रयास शुरू किया।

दुर्गा ने लगातार 2 साल चक्कर लगाए इसके बाद बैतूल में रेल संघ से जुड़े पदाधिकारी अशोक कटारे और बीके पालीवाल के प्रयास से दुर्गा को बिल्ला मिल गया और वह रेलवे स्टेशन पर कुली के तौर पर काम करने लगी। दुर्गा 29 फरवरी को विवाह सूत्र में बंधेगीं इस के पहले बुधवार को बैतूल रेलवे स्टेशन के वेटिंग रूम में हल्दी की रस्म पूरी की गई।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

राजेश बादल की नई किताब::“यह अंतिम था, जिसे पोर्टल प्रकाशित करने का साहस नहीं दिखा सका और मैंने यह कॉलम बंद कर दिया।“     |     क्षेत्र मे दहशत फैलाने वाले कुख्यात शराब तस्कर व आदतन आरोपी  NSA में गिरफ्तार कर केन्द्रीय जेल भोपाल भेजा गया     |     कुंडलपुर में आचार्य पदारोहण न भूतों न भविष्यति,एक नहीं दो दो मोहन बने साक्षी     |     सात दिवसीय श्रीमद्भागवत कथा का समापन     |     प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में दिल्ली की तीन सदस्य टीम का निरीक्षण     |     सप्त दिवसीय हनुमत शिव पंचायत, प्राण प्रतिष्ठा एवं राम कथा प्रवचन का आयोजन,कलश यात्रा निकली     |     नवरात्र के आखिरी दिन मंदिरों में भक्तों की रही भीड़     |     सवारी ऑटो को एसडीएम के जीप चालक ने मारी टक्कर, एक की मौत,चैत्र दुर्गा माता की अष्टमी पर पूजन करने रायसेन आया था आदिवासी परिवार     |     श्रीरामनवमी पर शहर में निकली जवारो की शोभा यात्रा, मिश्रा तालाब पर किया गया विसर्जन     |     दैवियां हमारे जीवन में नौ दिन के लिए नहीं बल्कि सदा के लिए परिवर्तन चाहती हैं- ब्रह्माकुमारी रुक्मिणी दीदी     |    

Don`t copy text!
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9425036811