Let’s travel together.

2 साल से गरीबी रेखा राशन कार्ड बनवाने भटक रहा है आदिवासी परिवार, नही मिली सरकारी मदद

0 499

-आधार कार्ड नही बनने से बच्चों को नही मिल रहा स्कूल में एडमिशन
-181 पर 3 बार शिकायत करने के बाद भी नही बना राशन कार्ड

सलामतपुर रायसेन से अदनान खान की विशेष रिपोर्ट

सरकार ने देश के विकास के लिए बड़ी बड़ी योजनाएं बनाई हैं। ताकि लोगों को इसका फायदा मिल सके। लेकिन यह योजनाएं असली हकदारों तक नही पहुंच पा रही है। इसका जीता जागता उदाहरण सांची जनपद के ढकना चपना गांव में देखने को मिल रहा है। जहां एक गरीब लाचार आदिवासी व्यक्ति जो टीवी जैसी गंभीर बीमारी से ग्रस्त है वह दो सालों से गरीबी रेखा का राशन कार्ड बनवाने के लिए यहां से वहां भटक रहा है। तीन बार 181 पर भी शिकायत दर्ज कराई लेकिन वहां से भी पीड़ित आदिवासी उमराव सिंह रावत पिता काशीराम रावत निवासी ढकना चपना को निराशा ही हाथ लगी।और तो और उमराव सिंह व उसकी पत्नी के पास वोटर कार्ड व आधार कार्ड भी नही थे। जैसे तैसे पति पत्नी का वोटर कार्ड और आधार कार्ड तो बन गया। परंतु इनके दोनों बच्चों का आधार कार्ड नही बन पा रहा है। जिसकी वजह से दोनों बच्चों का स्कूल में एडमिशन भी नही हो पा रहा है।अब यह देखना है कि क्या शासन और प्रशासन के ज़िम्मेदार अधिकारी टीवी जैसी गंभीर बीमारी के मरीज उमराव सिंह रावत की सुध लेकर कोई सरकारी मदद दिलवा भी सकते है कि नही।

टूटी फूटी झोपड़ी में रहकर कर रहा है गुज़र बसर:- उमराव सिंह आदिवासी पिछले 12 वर्षों से एक टूटी फूटी झोपड़ी में रहकर अपना गुज़र बसर कर रहा है। उसको 4 साल पहले टीवी की बीमारी हो गई थी। जिसका रायसेन चिकित्सालय में इलाज चल रहा है। लेकिन पीड़ित को अभी तक कोई भी सरकारी मदद नही मिली है। ना ही उसको मुख्यमंत्री आवास या प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ मिला है। और तो और उसके पुत्र व पुत्री भी आधार कार्ड नही बनने के कारण स्कूल में एडमिशन ले पा रहे हैं। जिससे उनके बच्चों का भी भविष्य खराब हो रहा है।

इनका कहना है।
में 2 साल से गरीबी रेखा का राशन कार्ड बनवाने के लिए सांची और रायसेन के चक्कर लगा रहा हूं। तीन बार 181 पर भी शिकायत कर चुका हूं। लेकिन कोई सुनवाई नही हो रही है। वहीं मेरे दोनों बच्चों का आधार कार्ड भी नही बन पा रहा है। जिसकी वजह से बच्चों का स्कूल में एडमिशन नही हो पा रहा है।
उमराव सिंह आदिवासी, निवासी ढकना चपना।

आरसीएमएस पोर्टल 15 दिन से नही चल रहा है। उमराव सिंह आदिवासी का बीपीएल कार्ड शीघ्र ही बना दिया जाएगा।
नियति साहू, नायब तहसीलदार सांची।

पंचायत द्वारा उमराव सिंह आदिवासी के वोटर कार्ड और आधार कार्ड बनवा दिए गए हैं। बीपीएल कार्ड सांची तहसील से बनेगा।
मुकेश कुमार बौद्ध, सचिव ग्रा.पं. ढकना चपना।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

आयसर ट्रक ने मोटरसाइकिल सवार की टक्कर मारी,एक की मौत     |     भोपाल विदिशा हाईवे 18 पर 3 दिन से लगातार बार-बार लग रहा जाम,यात्रियों को हो रही परेशानी     |     ट्रेन की चपेट में आने से ईंट भट्टा श्रमिक की मौत     |     जम्मू-कश्मीर में आतंकियों पर एक्शन की तैयारी? अमित शाह कल करेंगे सुरक्षा स्थिति पर अहम बैठक     |     बिहार: बेखौफ बदमाशों के हौसले बुलंद, खगड़िया में माकपा नेता की गोली मारकर हत्या     |     बुरहानपुर: हाल-ए-अस्पताल! संक्रमण के साए में मरीज, यहां टीबी रोगी भी सामान्य वार्ड में भर्ती     |     उपमुख्यमंत्री राजेंद्र शुक्ल ने किया 32वें सुरताल महोत्सव के प्रतिभागियों को सम्मानित      |     साइनिंग अमाउंट लेकर भी शाहरुख खान ने फिल्म ठुकराई, अनिल कपूर का करियर बन गया!     |     ऋषभ पंत ने लगाया स्पेशल ‘शतक’ जितना कमाया सब कर देंगे दान     |     ग्राम आमखेड़ा में दिखा बाघ,लोगों को देखकर शेर जंगल मे चला गया     |    

Don`t copy text!
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9425036811