Let’s travel together.

चाणक्य नीति-घर में में दिख रहे हैं अगर ऐसे संकेत, तो घर बचाने के लिए तुरंत हो जाएं सावधान

0 330

आचार्य चाणक्य ने द्वारा नीतिशास्त्र में जीवन के हर क्षेत्र से संबंधित महत्वपूर्ण बातों का जिक्र किया गया है। यदि इन बातों को ध्यान में रखा जाए तो व्यक्ति समस्याओं से तो बच ही सकता है साथ ही एक संतुष्ट और सफल जीवन भी व्यतीत कर सकता है। नीतिशास्त्र के अनुसार घर में गरीबी आने से पहले उसके संकेत मिलते हैं। इन संकेतों के माध्यम से यह जाना जा सकता है कि भविष्य में घर की आर्थिक स्थिति कैसी हो सकती है। आइए जानते हैं क्या हैं वो संकेत और क्या कहती है चाणक्य नीति इस बारे में
घर में पूजा पाठ न होना
आचार्य चाणक्य के अनुसार जिस घर में पूजा नहीं होती या लोग जहां ईश्वर का ध्यान नहीं लगाते उस घर में सुख-समृद्धि आनी बंद हो जाती है। इसके साथ ही घर में रह रही लोगों के बीच प्रेम भी कम हो जाता है और इस कारण लक्ष्मी माता वहां निवास नहीं करतीं। ये आने वाले आर्थिक संकट का बड़ा संकेत है।
बड़े-बुजुर्गों का अपमान करना
आचार्य चाणक्य के अनुसार घर में सभी बड़े बुजुर्गों का सम्मान करना चाहिए। जिस घर में बड़े बुजुर्गों का अपमान होने लगे समझ लीजिए उस घर में बुरे दिन आने वाले हैं। बड़े बुजुर्गों के साथ गलत व्यवहार करने वाले लोग जीवन में कभी भी खुश नहीं रहते। घर में बड़े बूढ़ों का अपमान करने वालों के घर कभी बरकत नहीं होती। ये आर्थिक संकट का एक संकेत माना जा सकता है।
घर में क्लेश होना
वैसे तो जिस घर में चार लोग रहते हैं वहां थोड़ी बहुत बहस होना लाज़मी है। मतलब यदि आपके घर में कई लोग हैं तो उनके बीच विचारों का मतभेद हो सकता है। लेकिन आचार्य चाणक्य के अनुसार मतभेद मिटाएं जा सकते हैं लेकिन यदि मनभेद हो गया तो उस घर में हमेशा झगड़ा होता रहेगा। चाणक्य के नीतिशास्त्र के अनुसार जिस घर में 24 घंटे सिर्फ क्लेश होता रहता है उस घर में आर्थिक तरक्की संभव नहीं है। इसलिए ये भी आने वाले संकट का संकेत है।
तुलसी के पौधे का सूख जाना
सामान्यतौर पर हर घर में तुलसी का पौधा लगाया जाता है और उसकी पूजा की जाती है। तुलसी का पौधा शुभता का प्रतीक है। आचार्य चाणक्य के अनुसार यदि घर पर कोई विपदा आने वाली होती है तो आपके घर का तुलसी का पौधा सूखने लगता है। यह भी आर्थिक संकट का संकेत है, इसलिए ऐसे में सावधानी बरतनी चाहिए।
कांच का बार-बार टूटना
आचार्य चाणक्य के अनुसार यदि आपके घर में बार-बार कांच टूटता है तो यह धन-हानि दर्शाता है। साथ ही घर में आने वाली दरिद्रता का भी संकेत होता है। इसलिए कांच का बार टूटना भी आर्थिक संकट का संकेत है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

हरिद्वार: मंदिर में दर्शन करने आए श्रद्धालुओं को पुजारियों ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, क्या रही वजह?     |     मनोज तिवारी ने 10 साल में क्या किया? नॉर्थ ईस्ट दिल्ली से टिकट मिलने पर कन्हैया का BJP पर हमला     |     उज्जैन: लाठी, पाइप-सरिया…. जो मिला उससे पीटा, शादी समारोह बना अखाड़ा, बुलानी पड़ी पुलिस     |     केजरीवाल की याचिका पर थोड़ी देर में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, ED की गिरफ्तारी को दी है चुनौती     |     10वीं तक पढ़ाई, 5 से ज्यादा आपराधिक मामले, जानें कौन है सलमान के घर के बाहर फायरिंग करने वाला कालू     |     नेहरू ने म्यांमार को गिफ्ट में दिया कोको द्वीप, अब इस पर चीन का नियंत्रण- बीजेपी नेता का कांग्रेस पर हमला     |     कांग्रेस Vs बीजेपी: सहयोगियों के आगे कौन, कहां झुका? 543 सीटों पर सीट समझौते की 5 अहम बातें     |     अभी और भड़केगी जंग की आग, ईरान से बदले का प्लान तैयार, इजराइल कभी भी कर सकता है हमला     |     चैत्र नवरात्रि के 7 वां दिन :: मां के कालरात्रि रूप की पूजा     |     TODAY :: राशिफल सोमवार 15 अप्रेल 2024     |    

Don`t copy text!
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9425036811