Let’s travel together.

18 जुलाई से मूंग खरीदी के पंजीयन हुए शुरू

0 88

28 जुलाई तक होंगे पंजीयन,किसान मूंग की उपज कम दामों में गल्ला व्यापारियों को बेचने के लिए मजबूर

शिवलाल यादव

रायसेन।रायसेन जिले में इस बार 1 लाख 20 हजार हेक्टेयर रकबे में किसानों ने गर्मी के सीजन वाली मूंग फसल की बोवनी की थी। अब इसके लिए 18 जुलाई से पंजीयन शुरू हो गए है। जो 28 जुलाई 2022 गुरुवार तक किए जाएंगे। गर्मी को मूंग को बीते साल की एमएसपी 7275 रुपए प्रति क्विंटल के रेट पर सरकारी स्तर पर खरीदा जाएगा। लेकिन इस बात की जानकारी अभी नहीं आई है कि खरीदी कब से शुरु हो होगी। मूंग खरीदी के लिए कितने केंद्र बनाए जाएंगे। इससे किसानों में भी असमंजस की स्थिति बनी हुई है।
मूंग की खरीदी में की गई लेटलतीफी:खुले बाजार में बेचने के बाद मूंग की समर्थन पर होगी खरीदी
रायसेन।इस साल सरकार द्वारा समर्थन मूल्य पर मूंग की खरीदी में की गई लेटलतीफी से किसानों में मायूसी है। ज्यादातर किसान अपनी मूंग की उपज मंडियों में कम दामों पर बेच चुके हैं। कई किसान जो सरकारी खरीदी के इंतजार में थे उन्हें राहत मिल गई है। जिले में समर्थन मूल्य पर मूंग उपार्जन के लिए 18 जुलाई सोमवार से पंजीयन शुरू हो गए हैं।

पंजीयन की प्रक्रिया 28 जुलाई तक चलेगी। किसानों के पंजीयन की व्यवस्था निशुल्क रखी गई है। किसानों को उपज का पंजीयन कराने से पहले आधार नंबर से बैंक खाता एवं मोबाइल नंबर को लिंक कराना होगा। आधार लिंक नहीं होने पर किसानों को समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी की तरह भुगतान में परेशानी हो सकती है।

करीब एक लाख 20 हजार हेक्टेयर में बोवनी की गई थी।
जिले में इस साल किसानों ने कर
यह रकबा पिछले साल के हेक्टेयर रकबे की तुलना ज्यादा है। इस साल जिले में किसानों ने समर्थन मूल्य पर अच्छे दाम मिलने की उम्मीद से ज्यादा रकबे में मूंग की फसल ली थी।
प्रदेश वसरकार द्वारा फसल कटाई के बाद काफी लंबे समय तक मूंग की समर्थन मूल्य पर खरीदी करने को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं की गई। इसके चलते जिले कई किसानों ने मजबूरी में मंडियों में काफी कम दाम पर अपनी मूंग बेच दी। उल्लेखनीय है कि सरकार द्वारा इस साल 7275 रुपए प्रति क्विंटल के भाव से समर्थन मूल्य पर मूंग खरीदी जा रही है।

जिले के किसान यहां करा सकते हैं पंजीयन
कृषि विभाग के उप संचालक एनपी सुमन ने बताया कि समर्थन मूल्य पर मूंग की उपज बेचने के लिए किसान स्वयं के मोबाइल से भी पंजीयन करा सकते हैं। इसके अलावा ग्राम पंचायत, जनपद पंचायत या तहसील कार्यालयों में संचालित सुविधा केंद्रों पर या पिछले साल की तरह सहकारी समितियों, एसएचजी, एफपीओ एवं एफपीसी द्वारा संचालित पंजीयन केंद्रों पर निशुल्क पंजीयन करा सकते हैं।
इसके अलावा पंजीयन शुल्क 50 रुपए के साथ एमपी ऑनलाइन, किओस्क, कॉमन सर्विस सेंटर, कियोस्क पर, लोक सेवा केंद्रों एवं निजी व्यक्तियों द्वारा संचालित साइबर कैफे पर भी किसान पंजीयन करा सकते हैं। गौरतलब है कि ज्यादातर किसान अभी तक अपनी मूंग की फसल को खुले बाजार में कम कीमत पर बेच चुके हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

शीशे की दीवार-आतंकी जैसा व्यवहार… तिहाड़ में केजरीवाल से मिलकर छलका भगवंत मान का दर्द     |     हरिद्वार: मंदिर में दर्शन करने आए श्रद्धालुओं को पुजारियों ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, क्या रही वजह?     |     मनोज तिवारी ने 10 साल में क्या किया? नॉर्थ ईस्ट दिल्ली से टिकट मिलने पर कन्हैया का BJP पर हमला     |     उज्जैन: लाठी, पाइप-सरिया…. जो मिला उससे पीटा, शादी समारोह बना अखाड़ा, बुलानी पड़ी पुलिस     |     केजरीवाल की याचिका पर थोड़ी देर में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, ED की गिरफ्तारी को दी है चुनौती     |     10वीं तक पढ़ाई, 5 से ज्यादा आपराधिक मामले, जानें कौन है सलमान के घर के बाहर फायरिंग करने वाला कालू     |     नेहरू ने म्यांमार को गिफ्ट में दिया कोको द्वीप, अब इस पर चीन का नियंत्रण- बीजेपी नेता का कांग्रेस पर हमला     |     कांग्रेस Vs बीजेपी: सहयोगियों के आगे कौन, कहां झुका? 543 सीटों पर सीट समझौते की 5 अहम बातें     |     अभी और भड़केगी जंग की आग, ईरान से बदले का प्लान तैयार, इजराइल कभी भी कर सकता है हमला     |     राहुल गांधी का हेलिकॉप्टर जैसे ही उतरा, पहुंच गई चुनाव आयोग की जांच टीम…फिर चला तलाशी अभियान     |    

Don`t copy text!
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9425036811