Let’s travel together.

देवी सती और भगवान श्रीकृष्ण की कथाओं से भी जुड़ा है लोहड़ी त्योहार

0 337

13 जनवरी को पूरे देश में लोहड़ी का त्योहार धूम-धाम से मनाया जाएगा। लोहड़ी परंपरागत रूप से रबी फसलों की फसल से जुड़ा हुआ है और यह किसान परिवारों में सबसे बड़ा उत्सव भी है। पंजाबी किसान लोहड़ी के बाद भी वित्तीय नए साल के रूप में देखते हैं। लोहड़ी का यह त्योहार मकर संक्रांति से एक दिन पहले मनाया जाता है। सिख धर्म के अनुसार लोहड़ी का त्योहार है नविवाहित जोड़ों और शिशुओं को बधाई देने का। सिंधी समाज में भी मकर संक्रांति से एक दिन पूर्व लाल लोही के रूप में इस पर्व को मनाया जाता है। लोहड़ी को पहले तिलोड़ी कहा जाता था। पंजाब के कई इलाकों मे इसे लोही या लोई भी कहा जाता है। लोहड़ी बसंत के आगमन के साथ मनाया जाता है। लोहड़ी के त्योहार से देवी सती और बहगवां श्री कृष्ण की कथाएं भी जुड़ी हैं। आइए जानते हैं कैसे-

माता सती और भगवान शंकर से जुड़ा है ये पर्व
लोहड़ी का पर्व भगवान शिव और देवी सती से भी जुड़ा हुआ है। माता सती भगवान शिव की पत्नी थी। मान्यता के अनुसार दक्ष प्रजापति की बेटी सती के आग में समर्पित होने के कारण यह त्योहार मनाया जाता है। एक बार माता सती के पिता राजा दक्ष ने एक यज्ञ का आयोजन किया, उन्होंने इस यज्ञ में भगवान शिव को नहीं बुलाया। फिर भी देवी सती बिना बुलाए उस यज्ञ में पहुंच गई। जब उन्होंने वहां अपने पति भगवान शिव का अपमान होते देखा तो यज्ञकुंड में कूदकर स्वयं की आहुति दे दी। देवी सती की याद में ही लोहड़ी का पर्व मनाया जाता है।

भगवान कृष्ण के किया था लोहित नामक राक्षसी का वध
भगवान श्री कृष्ण के समय से ही लोहड़ी का त्योहार मनाया जाता है। पौराणिक कथा के अनुसार भगवान श्री कृष्ण के जन्म के बाद ही उनके मामा कंस ने श्री कृष्ण को मारने की बहुत कोशिश की और इसके लिए उसने कई असुरों और राक्षसों को गोकुल भेजा। इस क्रम में कंस ने एक लोहिता नाम की राक्षसी को गोकुल भेजा था। जब लोहिता गोकुल आई तब सभी गांव वाले मकर संक्रांति की तैयारी में व्यस्त थे क्योंकि अगले दिन मकर संक्रांति का त्योहार था। मौके का लाभ उठाकर लोहिता ने श्री कृष्ण को मारने का प्रयास किया लेकिन श्री कृष्ण ने खेल ही खेल में लोहिता का वध कर दिया। ऐसा माना जाता है कि लोहिता नामक राक्षसी के नाम पर ही लोहड़ी उत्सव का नाम रखा। उसी घटना को याद करते हुए लोहड़ी पर्व मनाया जाता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

शिवराज सिंह चौहान द्वारा रायसेन जिले के ग्राम रतनपुर में ‘‘एक पेड़ मॉ के नाम‘‘ अभियान में आम का पौधा रोपित किया     |     पड़ोसी से विवाद में किया हवाई फायर, प्रकरण दर्ज, लाइसेंस निरस्त करने की अनुशंसा     |     ओबेदुल्लागंज वनमंडल के चिकलोद रेंज की आशापुरी बीट में मिला 12 दिन पुराना टाइगर का शव     |     TODAY :: राशिफल सोमवार 15 जुलाई 2024     |     भाजपा विधायक के इस्तीफे की धमकी के बाद होमगार्ड सैनिक पर गिरी गाज, मारपीट करने वाले होमगार्ड सैनिक को निलंबित किया गया     |     रोजगारोंन्मुखी शिक्षा के साथ भारतीय संस्कृति की समावेशी शिक्षा मिलेगी – उप मुख्यमंत्री श्री राजेन्द्र शुक्ल     |     सरकार का आदेश बेअसर, हाइवे पर अब भी लग रहा पशुओं का जमाबड़ा,बढ़ रही दुर्घटनाएं     |     दीवानगंज रेलवे स्टेशन के पास ट्रेन से गिरा युवक गंभीर रूप से हुआ घायल 108 से पहुंचाया अस्पताल     |     खबर का असर :: स्कूल के आसपास प्रशासन ने हटवाये कचरे के ढेर यह कीचड गंदगी     |     दुर्गानगर मंडल बेस नगर एवं वेत्रवती मंडल की कामकाजी बैठक संपन्न     |    

Don`t copy text!
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9425036811