Let’s travel together.

जानिये लोहड़ी के पर्व पर दुल्ला भट्टी की कहानी सुनने का खास महत्व

0 56

मकर संक्रांति से पहले लोहड़ी का त्योहार मनाया जाता है। इस साल यह त्यौहार 13 जनवरी को मनाया जाने वाला है। आपको बता दें कि लोहड़ी पंजाबियों का मुख्य त्योहार है इसलिए इसकी सबसे ज्यादा धूम पंजाब और हरियाणा में देखने को मिलती है। ऐसे में लोहड़ी के दिन लोग दुल्ला भट्टी की कहानी सुनते हैं। जी हाँ, लोहड़ी के दिन अलाव जलाकर उसके इर्दगिर्द डांस किया जाता है। इसी के साथ ही इस दिन आग के पास घेरा बनाकर दुल्ला भट्टी की कहानी सुनी जाती है।

आप सभी को बता दें कि लोहड़ी पर दुल्ला भट्टी की कहानी सुनने का खास महत्व होता है। ऐसा मना जाता है कि मुगल काल में अकबर के समय में दुल्ला भट्टी नाम का एक शख्स पंजाब में रहता था। उस समय कुछ अमीर व्यापारी सामान की जगह शहर की लड़कियों को बेचा करते थे, तब दुल्ला भट्टी ने उन लड़कियों को बचाकर उनकी शादी करवाई थी। उसी के बाद से हर साल लोहड़ी के पर्व पर दुल्ला भट्टी की याद में उनकी कहानी सुनाने की पंरापरा चली आ रही है। लोहड़ी को पहले तिलोड़ी कहा जाता था।

जी दरअसल यह शब्द तिल और रोड़ी (गुड़ की रोड़ी) शब्दों के मेल से बना है, जो समय के साथ बदल कर लोहड़ी के रूप में फेमस हो गया है। आप सभी को बता दें कि मकर संक्रांति के दिन भी तिल-गुड़ खाने और बांटने का महत्व है। वहीं पंजाब के कई इलाकों मे इसे लोही या लोई के नाम से भी जाना जाता है।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.

होइए वही जो राम रचि राखा… कैसरगंज से टिकट के सवाल पर बोले बृजभूषण शरण सिंह     |     Amit shah ने कर दिया Mandir जाने से इंकार! बोले- कोई मंदिर नहीं जाना…Video viral     |     क्या मॉक पोल में ईवीएम में BJP के पक्ष में अतिरिक्त वोट पड़ा? EC ने SC में दिया जवाब- सुनवाई जारी     |     बसपा के टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ेगें कांग्रेस छोड़ने वाले देवाशीष जरारिया, सूची जारी     |     जेल में घर की आलू-पूरी, आम और मिठाई खाने से बढ़ रही केजरीवाल की शुगर… ईडी ने कोर्ट में बताया     |     प्रेमी के खुदकुशी के हर मामले में प्रेमिका जिम्मेदार क्यों नहीं, चर्चा में दिल्ली HC का फैसला, जानें इसका जवाब     |     कांग्रेस को फिर लगा बड़ा झटका, भोपाल के पूर्व महापौर भाजपा में शामिल…     |     बुरहानपुर में अनियंत्रित होकर बाइक पुलिया से नीचे गिरी ,दो युवकों की दर्दनाक मौत, खातला फाटक के पास की घटना..     |     रिश्तों को तार- तार करने वाली वारदात ,दो बेटों ने मिलकर पिता को उतार दिया मौत के घाट, जानिए क्या है पूरा मामला…     |     SDM बनने का सपना टूटा तो महिला ने मौत को लगाया गले, सपने पूरे नहीं हुए… लिखकर किया सुसाइड     |    

Don`t copy text!
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9425036811