Let’s travel together.

चाणक्य नीति- इन 3 बातों को जानना प्रत्येक व्यक्ति के लिए आवश्यक

0 75

आचार्य चाणक्य ने अपने नीति शास्त्र में व्यक्ति की जीवन से जुड़े लगभग हर पहलू के बारे में जानकारी दी है। इन्होंने अपने नीतियों में न केवल सफलता को अहमियत दी बल्कि मानव जीवन से जुड़े हर उस पहलू के बारे में बात की, जो उसके लिए आवश्यक है। जिस बारे में आज हम आपको बताने वाले हैं, उस नीति में आचार्य चाणक्य में ऐसी 3 बातों से मनुष्य को अवगत करवाया है, जिन्हें जानना हर उस व्यक्ति के लिए आवश्यक है जो अपने जीवन में कभी रिश्तों को खराब नहीं करना चाहता। जी हां, चाणक्य का मानना है जो व्यक्ति इन बातों को अपने जीवन में अपना लेता है उससे संबंधित रिश्ते हमेशा अच्छे और प्रेममय रहते हैं। तो आइए जानते हैं कौन सी हैं वो बातें जिन्हें अपनाने से इंसान सबका प्रिय होकर प्रत्येक व्यक्ति के साथ एक बहुत अच्छा रिश्ता निभाता है।

अक्सर देखा जाता है कुछ लोग दूसरों के दिलों में अपनी जगह बनाने के लिए झूठ, छल और कपट का सहारा लेते हैं। मगर कहा जाता है कि छल या कपट से अर्जित किए गए प्रेम की परत एक न एक दिन खुल ही जाती है। क्योंकि जब झूठे इंसान की सच्चाई सामने आती है तो उसे अपयश तो मिलता ही है साथ ही साथ उसके प्रति लोगों के मन में प्यार की जगह नफरत पैदा हो जाती है।

इसलिए चाणक्य कहते हैं कि किसी भी इंसान के मन में अपने लिए प्यार पैदा करने के लिए हमेशा सही रास्तों का चयन करना चाहिए। तभी लोगों के दिल में अपने लिए जगह बनाई जा सकती हैं।

यहां जानें कौन सी बातों का ध्यान रखना ज़रूरी है-
अंहकार वश सामने वाले व्यक्ति को कभी न समझें कमजोर
चाणक्य के अनुसार कभी भी किसी व्यक्ति को अहंकार वश अपने सामने वाले को कमज़ोर और खुद को उसी अधिक विशाल, सक्षम व ताकतवर नहीं समझना चाहिए। क्योंकि यही भूल आगे चलकर इंसान को कभी कभी भारी पड़ सकती है। चाणक्य कहते हैं जो व्यक्ति अहंकार से दूर रहता, उसे हर जगह से सम्मान व आदर की प्राप्ति होती है। इतना ही नहीं बुरे वक्त में ऐसे लोगों को अच्छे व मददगार लोगों का भरपूर सहयोगी मिलता है।

हर किसी से रहें विनम्र
चाणक्य के अनुसार किसी के ह्रदय में अपने लिए प्रेम पैदा करने के लिए स्वभाव में विन्रम होने अति आवश्यक है। मगर आज कल लोगों में विन्रमता का भाव कम और क्रोध अधिक है। जिस कारण लोगो अपने जीवन के रिश्तों को बाखूबी नहीं निभा पाते। इस संदर्भ के बारे में चाणक्य कहते हैं कि आपकी विनम्रता ही किसी भी इंसान को आपके और आकर्षित करती है। क्योंकि जो विन्रम होता है वह ज्ञान और शक्ति से पूर्ण होता है। ऐसे लोगों का सम्मान में हमेशा आदर सम्मान होता है।

न दें धोखे
जो व्यक्ति अपने जीवन में किसी भी तरह के कार्य को पाने के लिए या प्रेम पाने के लिए धोखे की मदद लेता है, उसे समाज में केवल अपयश की प्राप्ति होती है। क्योंकि जो लोग इन लोगों की इन भावनाओं से अवगत हो जाते हैं, वो इनसे दूरी बनाकर रखने में अपने भलाई समझते हैं। इसलिए धोखे से किसी को जीतने का प्रयास नहीं करना चाहिए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

ट्रैक्टर ट्रालियो का व्यवसायिक उपयोग,ट्रालियों पर रेडियम प्लेट न होने से दुर्घटना की आशंका     |     भारतीय ज्ञान परम्परा सबसे प्राचीन है जो विश्व मे आज भी प्रासंगिक है -डा.ए.डी.एन वाजपेयी     |     सेवा भारती द्वारा संस्कार केन्द्रों का शुभारंभ     |     TODAY :: राशिफल सोमवार 27 मई 2024     |     शिवपुरी खनन माफियाओं पर कार्रवाई, जेसीबी और डंपर जप्त, कई क्रेशर व प्लांट पर मिली खामियां     |     दुर्लभ जीवित प्राणी इगुआना एवं एंपरर स्कॉर्पियन देवास से जप्त     |     यातायात व्यवस्था सुगम बनाने निकला पुलिस आमला ,4 वाहन जब्त      |     नारद जयंती उत्सव ::सृष्टि के पहले पत्रकार माने जाते हैं देवर्षि नारद     |     पी एच ई दफ्तर में अवकाश के दिन सब इंजीनियर और उनके मातहत मना रहे दारु-मुर्गा पार्टी,वीडियो वायरल     |     स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा का एटीएम कई दिनों से बंद,उपभोक्ता परेशान     |    

Don`t copy text!
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9425036811