Let’s travel together.

शयनकक्ष में कभी भी भूलकर न रखें ऐसी चीजें, मानसिक तनाव के साथ होगी धन हानि

0 400

वास्तुशास्त्र के अनुसार अगर घर के शयनकक्ष में किसी भी प्रकार का कोई वास्तु संबंधी दोष होता है तो इससे घर में हमेशा ही नकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है। वास्तु के मुताबिक जिन घरों में वास्तुदोष होता है वहां पर हमेशा धन हानि, कार्यों में असफलता, बाधाएं, बीमारियां और घर के सदस्यों के बीच मनमुटाव होता रहता है। घर के मुख्य द्वार के बाद सबसे खास जगह शयनकक्ष ही होता है। जहां पर व्यक्ति दिनभर की थकान को मिटाकर एक नई ऊर्जा को प्राप्त करता है। ऐसे में शयनकक्ष में किसी भी तरह का कोई भी वास्तु संबंधी दोष नहीं होना चाहिए।

कैसा होना चाहिए शयन कक्ष
वास्तुशास्त्र के अनुसार घर का मुखिया जिस कमरे में सोता है उसका बिस्तर हमेशा दक्षिण- पश्चिम दिशा में होना चाहिए। इसके अलावा पति-पत्नी का शयनकक्ष प्रेम और आकर्षण की दिशा उत्तर-पश्चिम के क्षेत्र में बना सकते हैं, इस दिशा में कमरा होने से उनके आपसी संबंधों में प्रगाढ़ता आती है। पति-पत्नी को ईशान दिशा के कमरे में बेड लगाने से परहेज करना चाहिए।

बेडरूम के लिए वास्तु नियम
– बेडरूम में कभी भी पूजा का स्थान नहीं बनना चाहिए।
– बेडरूम की दीवारों पर आक्रामक जानवरों की तस्वीरों को भी नहीं लगाना चाहिए।
– शयन कक्ष में बेड की सिराहने कभी भी कोई धार्मिक ग्रंथ रखकर नहीं सोना चाहिए।
– वास्तु के अनुसार बेडरूम के किसी भी कोने पर आईना नहीं होना चाहिए, अगर आइना लगा रखा है तो सोते वक्त उसे ढककर जरूर रखें।
– आपका बिस्तर कभी भी बेडरूम के दरवाजे के एकदम नजदीक नहीं होना चाहिए। ऐसे होने से घर के स्वामी के मन में अशांति और व्याकुलता बनी रहती है।
– अगर शयनकक्ष में बाथरूम बना है तो उसका दरवाजा सदैव बंद रखना चाहिए।
– पलंग के नीचे कबाड़ या कचरा जैसे सामान कभी गलती से भी न रखें।
– शयनकक्ष की दीवारें कभी भी सफेद या लाल रंग की नहीं होनी चाहिए। गहरे रंग की अपेक्षा हल्का रंग बेहतर होता है। हरा, गुलाबी या आसमानी रंग अच्छा प्रभाव छोड़ता है, कमरे में सकारात्मक ऊर्जा पैदा करता है।
-अगर पति-पत्नी के बीच अनबन रहती हो,तो सोते समय सिरहाने से बांसुरी रखने से लाभ होगा। वैवाहिक रिश्तों में मधुरता लाने के लिए उत्तर दिशा में नाचते हुए मयूर या राधा-कृष्ण की आलिंगनवद्ध पेंटिंग लगाना अच्छा होता है।
– संतान प्राप्ति की इच्छा रखने वाले दंपत्तियों को श्री कृष्ण के बालरूप या गाय-बछड़े की तस्वीर शयनकक्ष में लगानी चाहिए ।
– वास्तु के अनुसार हमेशा दक्षिण या पूर्व दिशा में सिर करके सोएं, ताकि पृथ्वी के चुंबकीय क्षेत्र के अनुसार आप दीर्घायु और गहरी नींद प्राप्त कर सकें आरामदायक व भरपूर नींद से दांपत्य जीवन अधिक सुखद बनता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

राहुल गांधी का हेलिकॉप्टर जैसे ही उतरा, पहुंच गई चुनाव आयोग की जांच टीम…फिर चला तलाशी अभियान     |     शीशे की दीवार-आतंकी जैसा व्यवहार… तिहाड़ में केजरीवाल से मिलकर छलका भगवंत मान का दर्द     |     हरिद्वार: मंदिर में दर्शन करने आए श्रद्धालुओं को पुजारियों ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, क्या रही वजह?     |     मनोज तिवारी ने 10 साल में क्या किया? नॉर्थ ईस्ट दिल्ली से टिकट मिलने पर कन्हैया का BJP पर हमला     |     उज्जैन: लाठी, पाइप-सरिया…. जो मिला उससे पीटा, शादी समारोह बना अखाड़ा, बुलानी पड़ी पुलिस     |     केजरीवाल की याचिका पर थोड़ी देर में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, ED की गिरफ्तारी को दी है चुनौती     |     10वीं तक पढ़ाई, 5 से ज्यादा आपराधिक मामले, जानें कौन है सलमान के घर के बाहर फायरिंग करने वाला कालू     |     नेहरू ने म्यांमार को गिफ्ट में दिया कोको द्वीप, अब इस पर चीन का नियंत्रण- बीजेपी नेता का कांग्रेस पर हमला     |     कांग्रेस Vs बीजेपी: सहयोगियों के आगे कौन, कहां झुका? 543 सीटों पर सीट समझौते की 5 अहम बातें     |     अभी और भड़केगी जंग की आग, ईरान से बदले का प्लान तैयार, इजराइल कभी भी कर सकता है हमला     |    

Don`t copy text!
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9425036811